इंडोनेशिया पर टूटा कहर

इंडोनेशियाई तट
Image caption भूकंप के बाद आई सूनामी से 100 से अधिक लोग मारे गए और कई लोग लापता हैं.

इंडोनेशिया के तटीय इलाक़े में भूकंप के बाद आई सूनामी और जावा के नज़दीक एक ज्वालामुखी फटने से 100 से भी ज़्यादा लोगों के मौत हो गई, और कई हज़ार लोग बेघर हो गए हैं.

इंडोनेशिया पर आई इस प्राकृतिक आपदा के बाद प्रशासन युद्धस्तर पर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने और फंसे हुए लोगों को निकालने में जुट गया है.

सूनामी

तटीय इलाक़े में सोमवार को भूकंप के बाद आई सूनामी से 100 से अधिक लोग मारे गए और कई लोग लापता हैं.

इंडोनेशिया के मेंतावाइ द्वीपों के पास समुद्र की सतह से 20 किलोमीटर नीचे 7.5 की तीव्रता वाले भूकंप के बाद आई सूनामी से बड़ी संख्या में घर नष्ट हो गए.

समाचार एजेंसी एएफ़पी ने एक आपदा प्रबंधन अधिकारी के हवाले से बताया है कि कोई दस गाँव सूनामी में बह गए हैं.

स्थानीय अधिकारियों के अनुसार ख़राब मौसम के कारण बचाव और राहत कार्य में देर हो रही है.

सूनामी में ऑस्ट्रेलिया के आठ से 10 लोग लापता बताए जा रहे हैं जो इस क्षेत्र में सर्फ़िंग कर रहे थे.

ऑस्ट्रेलियाई अधिकारी उनसे संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं मगर ख़राब मौसम के कारण फ़ोन संपर्क में बाधा आ रही है.

भूकंप आने के कुछ ही मिनटों के भीतर इंडोनेशियाई अधिकारियों ने सूनामी की चेतावनी जारी कर दी थी लेकिन उसे बाद में वापस ले लिया गया.

ज्वालामुखी

सूनामी का कहर जारी था कि इस बीच मेरापी की पहाड़ी पर इंडोनेशिया के सबसे सक्रिय ज्वालामुखी से लावा फूट पड़ा.

अधिकारियों का कहना है कि इसमें कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई है और दस हज़ार से भी ज़्यादा गांववालों को सुरक्षित जगहों पर ले जाने की कवायद की जा रही है.

Image caption ज्वालामुखी की तलहटी में रहनेवालों को शरणार्थी कैंपों में ले जाया जा रहा है.

ये लोग ज्वालामुखी की तलहटी में रहते थे और अब इन्हें शरणार्थी शिविरों में ले जाया जा रहा है.

कई लापता

एक और ऑस्ट्रेलियाई समूह के लोगों ने बताया कि मेंतावाई द्रीप के तट पर एक बड़ी लहर में उनकी नौका नष्ट हो गई.

इस नौका के कप्तान रिक हैलेट ने ऑस्ट्रेलियाई मीडिया को बताया,"पहले हमारी नौका के नीचे कुछ हलचल हुई, फिर कुछ ही मिनटों के भीतर एक बड़ी गर्जना सुनाई दी.

"मेरे दिमाग़ में सीधे सूनामी का ख़याल आया और मैंने समुद्र की ओर देखा और तब हम सबने देखा कि सफ़ेद पानी की एक मोटी दीवार हमारी ओर आ रही है."

कैप्टन रिक हैलेट ने बताया कि उनकी नौका इस लहर में नष्ट हो गई और वे समुद्र में कूद पड़े.

उन्होंने बताया कि नौका पर सवार कई लोग द्वीप के 200 मीटर भीतर तक बह गए जो अब भी लापता हैं.

संबंधित समाचार