अमरीका और ब्रिटेन में सतर्कता जारी

एअरपोर्ट पर खड़ा कार्गो विमान
Image caption यमन से अमरीका के लिए उड़े थे कार्गो विमान

यमन से अमरीका जा रहे दो मालवाहक विमानों में विस्फोटक मिलने के बाद अमरीका और ब्रिटेन इस घटना से पैदा हुए चरमपंथी हमले के ख़तरे के विस्तार की जांच कर रहे हैं.

यमन से अमरीका के लिए उड़े दो कार्गो विमानों में ये पैकेट दुबई और ब्रिटेन के हवाई अड्डों पर बरामद किए गए थे.

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि ये पैकेट एक 'प्रामाणिक आंतकवादी ख़तरा' थे.

ब्रिटेन की गृहमंत्री टेरेसा मे ने कहा है कि जानकार ये पता लगाने की कोशिश में जुटे हैं कि ब्रिटेन के ईस्ट मिडलैंड्स हवाई अड्डे पर पाया गया पैकेट एक 'सक्षम विस्फोटक उपकरण' था या नहीं.

सतर्कता जारी

बराक ओबामा के वरिष्ठ आतंकवाद विरोधी सलाहकार जॉन ब्रेनन ने कहा,"अमरीका ये नहीं मान रहा कि हमले रोक दिए गए हैं. हम सतर्कता बरत रहे हैं." यूपीएस और फ़ैडएक्स के मालवाहक विमानों पर विस्फोटक मिलने के बाद अमरीका, ब्रिटेन और मध्य-पूर्व में सुरक्षा अलर्ट जारी कर दिए थे.

घटना के बाद अमरीका के कई हवाई अड्डों मालवाहक विमानों की जांच की गई है. इन मालवाहकों पर यमन से आया सामान लदे होने की आशंका थी.

अमरीकी अधिकारियों ने कहा है कि मालवाहक विमान में मिले दो पैकेटों की विस्फोटक सामग्री को निष्क्रिय कर दिया गया है.

ख़बर है कि ब्रिटेन के हवाई अड्डे पर कार्गो विमान से मिला 'उपकरण' प्रिंटर का एक रूपांतरित 'इंक टोनर' था.

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि ये पैकेट शिकागो में यहूदी उपासना स्थलों को भेजे जा रहे थे.

व्हाइट हाउस का कहना है कि आतंकवाद के इस ख़तरे के बारे में उन्हें सउदी अरब से जानकारियां मिलीं जिनसे अमरीका को मदद मिली.

अमरिकी अधिकारियों ने समाचार एजेंसी एपी को बताया है कि उन्हें लगता है कि पैकेटों में पीईटीएन नाम का ताक़तवर विस्फोटक था, हांलाकि अभी विस्फोटक की जांच पूरी नहीं हुई है.

संबंधित समाचार