अमरीका: शुरुआती नतीजे रिपब्लिकन खाते में

  • 3 नवंबर 2010
ओबामा

अमरीका में मध्यावधि चुनावों के नतीजे आने शुरु हो गए हैं. केंटकी, इंडियाना दोनों स्थानों से रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार जीत गए हैं.

केंटकी से मिले नतीजे में रिपब्लिकन पार्टी के रैंड पॉल ने सीनेट की सीट जीत ली है.

दूसरा परिणाम इंडियाना से मिला है, वहाँ भी रिपब्लिकन पार्टी के डेन कोट्स ने सीनेट की सीट जीत ली है. उन्होंने ये सीट डेमोक्रेटिक पार्टी से छीनी है.

दरअसल अमरीका में प्रत्येक दो वर्ष बाद मध्यावधि चुनाव होते हैं. इन चुनावों में हाउस ऑफ़ रिप्रेज़ेंटेटिव यानी प्रतिनिधि सभा के सदस्यों और सीनेट के लिए एक तिहाई सदस्यों को चुना जाता है.

ऐसी आशंका जताई जा रही है कि बराक ओबामा की डेमोक्रेटिक पार्टी इन चुनावों में प्रतिनिधि सभा में अपना बहुमत खो सकती है.

प्रेक्षकों का कहना है कि विपक्षी रिपब्लिकन पार्टी को अर्थव्यवस्था और बेरोज़गारी को लेकर मतदाताओं के असंतोष का फ़ायदा मिल सकता है.

रिपब्लिकन आगे

इन चुनावों में प्रतिनिधि सभा के 435 प्रतिनिधि चुने जाएंगे, साथ ही सीनेट की 100 में से 37 सीटों पर भी मतदान हुआ है.

Image caption सर्वेक्षणों में रिपब्लिकन पार्टी का पलड़ा भारी बताया जा रहा है

इसके अलावा अमरीका के 50 में से 37 राज्यों के गवर्नर भी चुने जाने हैं.

अब तक आए सर्वेक्षणों में लगातार रिपब्लिकन पार्टी के प्रतिनिधि सभा में बहुमत हासिल करने के संकेत मिले हैं लेकिन सीनेट के लिए दोनों दलों में कांटे की टक्कर है.

ग़ौरतलब है कि इस समय सीनेट और प्रतिनिधि सभा दोनों में राष्ट्रपति बराक ओबामा की डेमोक्रेटिक पार्टी का बहुमत है.

अगर दोनों सदनों में डेमोक्रेटिक पार्टी अपना बहुमत खो देती है तो राष्ट्रपति ओबामा के लिए विधेयक पारित करवाना, प्रशासन में अपनी पसंद के लोगों की नियुक्ति कराना और कांग्रेस से अपनी बातें मनवाना मुश्किल हो जाएगा.

साथ ही राष्ट्रपति ओबामा को अपने एजेंडे पर काम करने में बाधाएं आएंगी और अगले राष्ट्रपति चुनाव में उनके दोबारा चुने जाने की संभावना भी कम हो जाएगी.

हालांकि नकारात्मक नतीजों के बाद भी राष्ट्रपति ओबामा को अगले दो साल तक यानी अगले राष्ट्रपति चुनाव तक कोई ख़तरा नहीं है.

संबंधित समाचार