अल-क़ायदा ने ली पार्सल बमों की ज़िम्मेदारी

इब्राहीम अल असीरी
Image caption यमन की पुलिस इब्राहीम अल असीरी को तलाश कर रही है.

चरमपंथी संगठन अल क़ायदा के अरब गुट ने कहा है कि पिछले हफ़्ते अमरीका जा रहे दो मालवाहक विमानों पर जो पार्सल बम पाए गए थे वह उसने भेजे थे.

चरमपंथी गुट ने ये भी कहा है कि सितंबर के महीने दुबई में जो मालवाहक विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था उसे भी उन्होंने ही उड़ाया था.

संयुक्त अरब अमीरात के अधिकारियों ने कहा था कि दुर्घटना का कारण विस्फोट नहीं था.

ये विमान दुबई हवाई अड्डे से उड़ान भरने के फ़ौरन बाद ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया था.

दुर्घटना में विमान के दोनों चालकों की मौत हो गई थी.

अल क़ायदा का संदेश

यमन स्थित अल क़ायदा के गुट ने वेबसाइट पर लिखे संदेश में कहा है कि अमरीका और उसके मित्र देश उसके निशाने पर बने रहेंगें.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के लिए वेबसाइट संदेश मे उन्होंने कहा है, “हमने एक साल के भीतर तुम्हारे तीन हवाई जहाज़ों को निशाना बनाया है और अगर ख़ुदा ने चाहा तो हम भविष्य में भी अमरीका और उसके मित्रों के हितों को निशाना बनाते रहेंगें.”

मालवाहक विमानों के ज़रिये भेजे गए बम एक गुप्त सूचना के आधार पर ढूंढकर नाकाम किए गए थे.

ये विमान यमन से चलकर दुबई और ब्रिटेन के रास्ते अमरीका जा रहे थे.

ब्रितानी अधिकारियों ने कहा है कि पार्सल बम की सूचना अल क़ायदा के ही एक सदस्य ने दी थी जिसने बाद में ख़ुद को सऊदी अरब की पुलिस के हवाले कर दिया था.

इस बीच यमन की पुलिस बम बनाने वाले संदिग्ध व्यक्ति इब्राहिम अल असीरी को तलाश कर रही है.

संबंधित समाचार