अमरीका: सुधर रहे हैं नौकरियों के हालात

Image caption अमरीका में आर्थिक मंदी के चलते 70 लाख नौकरियां खत्म हो गई थीं.

अमरीका के जनसंसाधन मंत्रालय का कहना है कि आर्थिक मंदी से उबरने की कड़ी में अमरीका में फिर से नौकरियों के अवसर पैदा हो रहे हैं.

‘लेबर डिपार्टमेंट’ ने अमरीका में पैदा हो रहे रोज़गार के अवसरों को लेकर ताज़ा आंकड़े जारी करते हुए कहा है कि पिछले चार महीने में पहली बार ऐसा हुआ है कि अमरीकी अर्थव्यवस्था में जितनी नौकरियां खत्म हुईं उससे ज़्यादा नौकरियों के अवसर पैदा हुए हैं.

निजी क्षेत्र में विकास के चलते गैर-कृषि क्षेत्र में कई हज़ार नौकरियां पैदा हुई हैं. आंकड़े दिखाते हैं कि आर्थिक मंदी से उबरने में निजी क्षेत्र की भूमिका महत्वपूर्ण साबित हो रही है.

बेरोज़ारी दर

अप्रैल से अब तक व्यापार क्षेत्र में तेज़ी से लोगों को नियुक्त किया गया है. हालांकि बेरोज़ारी की दर में फिलहाल कोई बदलाव दर्ज नहीं किया गया है.

अमरीका में पिछले तीन महीने से बेरोज़ारी दर 9.6 प्रतिशत बनी हुई है.

जानकारों का मानना है कि तेज़ी से पैदा हो रहे नौकरियों के अवसर सुखद संकेत तो देते हैं लेकिन इनके आधार पर पूरी तरह यह नहीं कहा जा सकता कि अमरीकी अर्थव्यवस्था सुधार के रास्ते पर चल पड़ी है.

मतभेद

अमरीका में आर्थिक मंदी के चलते 70 लाख नौकरियां खत्म हो गई थीं.

मध्यावधि चुनावों के बाद ओबामा ‘हाउस ऑफ रिप्रेसेन्टेटिव्स’ में अपना बहुमत खो चुके हैं. उनके बाद सदन में स्पीकर का पद संभाल रहे जॉन बोहेनर का मानना है कि मंदी से उबरने के लिए अमरीका को करों में बढ़ोत्तरी से बचना होगा और सरकारी खर्च में क़टौती करनी होगी.

हालांकि ओबामा और जॉन बोहेनर की रिपब्लिकन पार्टी के बीच इस पर कड़े मतभेद हैं और इन तरीकों का लागू कराना रिपब्लिकन सदस्यों के लिए टेढ़ी खीर साबित हो सकता है.

संबंधित समाचार