हेती में हैजे़ से 500 की मौत

हैती
Image caption तूफ़ान प्रभावित हैती में अब हैजे का कहर

भूकंप के बाद समुद्री तूफ़ान के कहर से जूझ रहे हेती में हैजे़ की वजह से होने वाली मौतों की संख्या दिनोंदिन बढ़ती जा रही है.

देश के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक़ ये बीमारी अब तक 500 से ज़्यादा लोगों की जान ले चुकी है. हैज़े से ग्रस्त लोगों की संख्या अब तक 7359 तक पहुंच गई है.

स्थानीय प्रशासन और राहत एजेंसियां हरीकेन 'टॉमस' से सबसे ज़्यादा प्रभावित इलाकों में पीने का साफ पानी पहुंचाने की कोशिश कर रही हैं.

समुद्री तूफ़ान की वजह से आई बाढ़ से पश्चिमी हेती में अब तक 8 लोग मारे जा चुके हैं.

महामारी का डर

'सेव द चिल्ड्रन' नाम की एक राहत संस्था के मुताबिक लियोगेन शहर की सड़कों में पानी भर गया है और बाढ़ की वजह से 35 हज़ार लोग प्रभावित हुए हैं. शहर में मौजूद बीबीसी संवाददाता लॉरा ट्रैवेलियन ने बताया कि घुटनों तक पानी भर गया है, और लोगों के बीच महामारी का डर फैल गया है.

ले कै, ज़ैकमैल और गोनावी शहरों में भी पानी भर गया है. बाढ़ और भूस्खलन की वजह से कई पहाड़ी इलाकों का हेती के बाकी इलाकों से संपर्क टूट गया है.

स्थानीय प्रशासन का कहना है कि ये राहत की बात है कि 'टॉमस' राजधानी पोर्त-ओ-प्रिंस में ज़्यादा तबाही मचाए बिना निकल गया.

जनवरी में आए विनाशकारी भूकंप से प्रभावित क़रीब 13 लाख लोग पोर्त-ओ-प्रिंस में लगाए गए राहत कैंपों में रह रहे हैं.

संबंधित समाचार