हिलेरी ने अफ़गान नीति का बचाव किया

हिलेरी क्लिंटन
Image caption हिलेरी क्लिंटन ने अमरीका की नीतियों का ज़बर्दस्त बचाव किया.

अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी सैन्य अभियानों का बचाव करते हुए कहा है कि बड़े चरमपंथी नेताओं के ख़िलाफ़ सूझबूझ से किए गए हमले अमरीकी नीति का हिस्सा हैं.

उल्लेखनीय है कि अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी सैन्य अभियानों की कड़ी आलोचना की थी. करज़ई ने कहा था कि ऐसे अभियान जो ख़ास कर रात में होते हैं उन्हें रोका जाना चाहिए क्योंकि इससे जनजीवन अस्त व्यस्त हो रहा है.

अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी सेना के कमांडर डेविट पेट्रायस ने भी राष्ट्रपति करज़ई के बयानों की आलोचना करते हुए इन्हें निराशाजनक बताया है. नैटो के महासचिव एंडर्स फोग रैसमुसैन ने कहा कि वो राष्ट्रपति करज़ई के बयान का सम्मान करते हैं लेकिन ज़रुरी नहीं कि वो इन बयानों से इत्तेफ़ाक़ रखते हों.

अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने अमरीकी सैन्य और नागरिक अभियानों का ज़बर्दस्त बचाव किया और कहा कि इन अभियानों का चरमपंथी नेतृत्व और उनके नेटवर्क पर बहुत गहरा असर पड़ रहा है और ये नीतियां अफ़ग़ानिस्तान के लोगों और उनकी सरकार के हित में है.

Image caption करज़ई ने पहली बार अमरीकी नीतियों की खुलकर आलोचना की है.

हिलेरी का कहना था कि गुप्त जानकारियों के आधार पर चरमपंथी नेतृत्व और उनके नेटवर्क पर बिल्कुल सुनिश्चित हमले कराना अमरीकी रणनीति का हिस्सा है.

उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि ये सभी अभियान अफ़ग़ानिस्तान सरकार की रज़ामंदी से हो रहे हैं और हर अभियान में अफ़ग़ानिस्तान के सैनिक भी शामिल होते हैं.

हालांकि हिलेरी ने ये भी कहा कि अमरीकी सरकार अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति करज़ई की चिंताओं को लेकर संवेदनशील है.

इससे पहले रविवार को हामिद करज़ई ने अमरीकी अख़बार वाशिंगटन पोस्ट को एक इंटरव्यू दिया था जिसमें अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी अभियान को कम करने की मांग की थी.

उनका कहना था कि वो चाहते हैं कि अमरीकी सैनिक सड़कों पर न दिखें, अफ़ग़ानिस्तान के घरों में न दिखें ताकि लोगों का जीवन सामान्य हो सके.

करज़ई के बयानों की अमरीकी सैन्य कमांडर ने आलोचना की थी.

संबंधित समाचार