'दुनिया: पराकाष्ठाएँ' - अपराध

'दुनिया: पराकाष्ठाएँ' श्रृंखला के चौथे भाग में अपराध की पड़ताल की गई है.

दुनिया में प्रति वर्ष लगभग एक करोड़ लोगों को हिरासत में लिया जाता है. इनमें से लगभग आधे लोग अमरीका, चीन और रूस में क़ैद किए जाते हैं.

'वर्ल्ड प्रिज़न पापुलेशन' ने वर्ष 2009 के लिए जो आंकड़े जारी किए हैं उनके मुताबिक अमरीका में हर एक लाख व्यक्तियों में 756 लोग कैद में हैं, वहीं दुनिया भर में प्रति लाख व्यक्ति 145 लोग क़ैद में है.

दूसरी ओर लेचसेनस्टीन में मात्र सात लोग वर्ष 2008 में क़ैद थे. हालांकि कुछ लोग ऑस्ट्रिया की जेलों में कैद थे फिर भी प्रति लाख महज़ 20 लोग ही क़ैद थे.

संयुक्त राष्ट्र के ‘नशा और अपराध’ कार्यालय 198 देशों में हत्या के आंकड़े पेश करता है जो कि न्यायिक प्रणाली से मिली जानकारी के आधार पर हैं.

मध्य और दक्षिणी अमरीकी देशों में सबसे ज्यादा हत्या की दर है.

हॉंडूराज़ में प्रति लाख व्यक्तियों में 60.9 व्यक्तियों की हत्या की ख़बर है जबकि जमैका में 59.5 है. आईसलैंड और मोनाको में आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2008 में यह दर शून्य थी. इंग्लैंड और वेल्स में 1.2 और अमरीका में 5.2 है.

कंसलटेंसी कंपनी मेरसर के ‘क्वालिटी ऑफ़ लीविंग’ नाम के एक सर्वेक्षण के मुताबिक लक्सेमबर्ग में व्यक्तिगत सुरक्षा का स्तर सबसे अच्छा है और बग़दाद दुनिया में सबसे ज़्यादा असुरक्षित शहर है.

इस सर्वेक्षण में 215 शहरों का विश्लेषण किया गया जिसमें अपराध के स्तर और आंतरिक स्थिरता जैसे मुद्दों पर ध्यान दिया गया था.