जूलियन असांज पर इंटरपोल का नोटिस

  • 1 दिसंबर 2010
जूलियन असांज
Image caption जूलियन असांज ने विकीलीक्स पर जो सामग्री छापी है उससे दुनिया भर में खलबली मची हुई है.

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज के ख़िलाफ़ इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है.

इंटरपोल का कहना है कि वो सेक्स से संबंधित एक कथित अपराध के मामले में स्वीडन में पूछताछ के लिए वांछित हैं.

असांज ने इन आरोपों का खंडन किया है.

इस नोटिस का मतलब ये नहीं है कि ये असांज के विरूद्ध गिरफ़्तारी का वारंट है.

इस नोटिस का अर्थ है कि अगर लोगों को जूलियन असांज के बारे में कोई जानकारी हो तो वो पुलिस से संपर्क करें.

इस बीच एक्वाडोर के राष्ट्रपति राफ़ेल्ल कोर्रिया ने कहा है कि असांज को उनके देश में रहने के प्रस्ताव को उन्होंने मंज़ूरी नहीं दी है.

सोमवार को एक्वाडोर के उप विदेश मंत्री किंटो लूकास ने 39 वर्ष के असांज और उनके खोजी काम की सराहना की थी और उन्होंने कहा था कि अगर असांज उनके देश में आकर रहना चाहते हैं तो "बिना किसी शर्त के उनका स्वागत" है.

मामला

अक्तूबर में असांज ने स्वीडन की नागरिकता पाने की पेशकश की थी लेकिन स्वीडन ने उसे ठुकरा दिया था.

उल्लेखनीय है कि स्कैंडिनेवियाई देशों के क़ानून उन लोगों को संरक्षण देते हैं जो भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाते हैं.

असांज ने पिछले महीने की शुरूआत में स्वीडन की सर्वोच्च अदालत में स्टॉकहोल्म की निचली अदालत के उस आदेश को निरस्त करने की अपील की थी जिसमें बलात्कार और यौन दुराचार के आरोप में उन्हें गिरफ़्तार करने को कहा गया था.

अदालत ने उनकी अपील को ख़ारिज कर दिया था.

ऑस्ट्रेलिया भी इस बात की जाँच कर रहा है कि कहीं असांज ने उनके यहाँ कोई क़ानून तो नहीं तोड़ा है.

असांज ने इन आरोपों का खंडन किया है और कहा है कि ये उनकी छवि को बिगाड़ने के लिए चलाया गया एक अभियान है.

संबंधित समाचार