परमाणु सहयोग पर भारत-फ्रांस में समझौता

  • 6 दिसंबर 2010
निकोला सारकोज़ी और मनमोहन सिंह

फ्रांस और भारत के बीच एक समझौता हुआ है जिसके तहत फ़्रांस भारत को परमाणु रिएक्टर मुहैया करवाएगा.

इन रिएक्टरों का इस्तेमाल महाराष्ट्र के जैतापुर में बनने वाले परमाणु बिजलीघर में किया जाएगा.

साथ ही परमाणु ऊर्जा क्षेत्र में दोनों देशों के सहयोग को बढ़ाने के लिए भी कई समझौते किए गए हैं. फ्रांस के राष्ट्रपति निकोलस सारकोज़ी की भारत यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच कुल सात समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं.

परमाणु सहयोग से जुड़े समझौतों में नागरिक परमाणु ऊर्जा के विकास से संबंधित बौद्धिक संपदा अधिकार समझौता, परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण इस्तेमाल पर दोनों देशों के बीच तकनीकी आंकड़ों और इससे संबधित जानकारी को गुप्त रखने का समझौता शामिल है.

भारत और फ्रांस के परमाणु ऊर्जा विभागों के बीच परमाणु विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के लिए भी दोनों देशों के बीच सहमति बनी है.

सारकोज़ी ने संयुक्त प्रेस वार्ता में भारत की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थाई सदस्यता का खुलकर समर्थन किया.

निकोलस सारकोज़ी ने कहा, "सुरक्षा परिषद में भारत का होना ना सिर्फ भारत के हित में है बल्कि वैश्विक शक्ति संतुलन के हित में भी है."

आधुनिक रक्षा तकनीक

फ्रांस ने भारत को आधुनिक रक्षा तकनीक मुहैया करवाने की भी इच्छा जताई, जिसका मनमोहन सिंह ने स्वागत किया.

प्रधानमंत्री सिंह ने दोनों देशों के बीच हुई बातचीत के बारे में कहा, "हमने दोनों देशों के लिए महत्वपूर्ण क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा की, जिनमें अफ़गानिस्तान, पाकिस्तान, ईरान, म्यांमार की स्थिति, आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दे शामिल हैं और दोनों देश इन मुद्दों पर मिलकर काम करने के लिए सहमत हैं."

परमाणु क्षेत्र से जुडे़ समझौतों के अलावा देशों के बीच साझा फिल्म निर्माण करने संबधी समझौता भी किया गया है.

भारत की अंतरिक्ष अनुसंधान संस्था इसरो और फ्रांस की सीएनईसी के बीच भूविज्ञान और पर्यावरण संबंधी मामलों में सहमति पत्र पर भी हस्ताक्षर हुए.

महाराष्ट्र के जैतापुर में बनने वाले परमाणु सयंत्र के लिए यूरोपीय प्रेशराइज़्ड रिएक्टर लगाने के लिए भारतीय परमाणु ऊर्जा निगम लिमिटेड और फ्रांसीसी कंपनी अरेवा के बीच बुनियादी समझौते पर हस्ताक्षर हुए. दोनों के बीच काम शुरु करने के लिए समझौते पर भी हस्ताक्षर हुए.

संबंधित समाचार