प्रिंस चार्ल्स की कार को निशाना बनाया

प्रिंस चार्ल्स और कमिला

गुरुवार को लंदन में ब्रितानी संसद के बाहर छात्रों के प्रदर्शनों, हिंसा और धक्का-मुक्की की चपेट में ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स और उनकी पत्नी डचेस ऑफ़ कॉर्नवॉल भी आ गए.

प्रदर्शनकारियों ने उस कार को भी निशाना बनाया जिसमें प्रिंस चार्ल्स और उनकी पत्नी डचेस ऑफ़ कॉर्नवॉल जा रहे थे.

कार का एक शीशा टूट गया और कार पर पेंट भी फेंका गया. बीबीसी संवाददाता जेम्स लैंस्डेल के अनुसार प्रिंस चार्ल्स और कमिला सुरक्षित हैं.

प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने कहा है कि ये बहुत ही स्तब्ध कर देने वाली अफ़सोस की बात है कि प्रदर्शनकारियों ने प्रिंस चार्ल्स की कार को निशाना बनाया.

'गंभीर और विस्तृत जाँच होगी'

छात्र ब्रितानी सरकार की उस योजना का विरोध कर रहे थे जिसके तहत ब्रिटेन के विश्वविद्यालयों में ट्यूशन फ़ीस को तीन गुना बढ़ाने के प्रस्ताव पर संसद में मतदान होना था. अंत में सरकार ने 21 मतों के बहुमत में इस योजना को पारित करा लिया.

जब छात्रों के प्रदर्शन चल रहे थे तब प्रिंस चार्ल्स और उनकी पत्नी रॉयल वेरायटी परफ़ॉर्मेंस के लिए कार से जा रहे थे.

समाचार एजेंसी एपी के एक फ़ोटोग्राफ़र के अनुसार उन्होंने केंद्रीय लंदन में रीजेंट स्ट्रीट पर देखा कि छात्र प्रदर्शनकारियों ने प्रिंस चार्ल्स की कार को घेर रखा है और लातों से कार पर गुस्सा निकाल रहे हैं.

इसके बाद ड्राइवर ने कार बढ़ाई और उस जगह से वाहन को आगे निकाल कर ले गया.

लंदन की मेट्रोपॉलिटन पुलिस के आयुक्त सर पॉल स्टीफ़ेनसन ने कहा, "(लंदन में हुई) इस पूरी हिंसा की बहुत ही गंभीर और विस्तृत जाँच होगी. इसमें दस पुलिस अधिकारी घायल हुए हैं. "