असांज को ज़मानत, रिहाई अभी नहीं

Image caption जेल जाते समय असांज की तस्वीर

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज को लंदन में जज ने ज़मानत दे दी है हालांकि अभी उनकी रिहाई नहीं हुई है.उन्हें कुछ दिन पहले लंदन में गिरफ़्तार कर लिया गया था.

स्वीडन के अभियोजकों ने कहा है कि वो असांज को मिली ज़मानत को चुनौती देंगे.

इसके पहले बीबीसी संवाददाता ने कहा था कि अगर स्वीडन के अभियोजक ज़मानत को चुनौती देते हैं तो असांज को और अड़तालिस घंटे जेल में रहना पड़ सकता है.

अब असांज को मिली ज़मानत को दी गई चुनौती की सुनवाई अगले अड़तालिस घंटों के भीतर होगी और तबतक असांज जेल में ही रहेंगे.

असांज के ख़िलाफ़ स्वीडन के आग्रह पर गिरफ़्तारी वारंट जारी किया गया था. स्वीडन में असांज के ख़िलाफ़ बलात्कार समेत चार मामले हैं.

विकीलीक्स पर लाखों संवेदनशील दस्तावेज़ जारी करने के बाद से अमरीका उनसे काफ़ी नाराज़ है.

ज़मानत की शर्तों के तहत असांज को दो लाख पाउंड का मुचलका देना होगा और अपना पासपोर्ट भी सौंपना होगा. इसके अलावा असांज को इलेक्ट्रॉनिक टैग भी पहनना होगा.

कोर्ट में मौजूद बीबीसी संवाददाता ने कहा था कि अगर दूसरा पक्ष समय रहते अपील कर देता है तो उन्हें अभी 48 घंटों तक हिरासत में ही रहना पड़ सकता है.

पिछले हफ़्ते उन्हें ज़मानत नहीं दी गई थी हालांकि कई जानी मानी हस्तियाँ मुचलके की राशि देने के लिए आगे आई थीं.

ज़मानत की सुनवाई के दौरान कोर्ट के बाहर बड़ी संख्या में पत्रकार और असांज के समर्थक इकट्ठा थे.

असांज कहते आए हैं कि उनके ख़िलाफ़ लगाए गए आरोप राजनीति से प्रेरित हैं.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है