इटली में बर्लुस्कोनी की सरकार बची

बर्लुस्कोनी

इटली के प्रधानमंत्री ने संसद के दोनों सदनों में विश्वास मत हासिल कर लिया है.

सीनेट में जीत के बाद निचले सदन के मतदान पर सबकी नज़रें लगी हुई थीं जहाँ सरकार केवल तीन वोटों के अंतर से जीती. जबकि सीनेट में उसे आसानी से जीत मिल गई थी.

यदि बर्लुस्कोनी हार जाते तो देश में चुनाव करवाने पड़ते. रोम में बीबीसी संवाददाता का कहना है कि हालांकि अब बर्लुस्कोनी को इस्तीफ़ा नहीं देना पड़ेगा लेकिन जिस कम अंतर से उन्हें जीत मिली है वो दर्शाता है कि संकट अभी टला नहीं है.

विवादों में घिर बर्लुस्कोनी के कई निकट सहयोगियों ने उनका साथ छोड़ दिया है जिसके बाद निचले सदन में उनका बहुमत ख़त्म हो गया था

लेकिन अंतिम मतदान के दौरान विपक्ष के दो लोगों ने पाला बदल लिया जिसका फ़ायदा बर्लुस्कोनी को मिला.

विवादों में बर्लुस्कोनी

सोमवार को विश्वास मत पर बहस की शुरुआत करते हुए बर्लुस्कोनी ने सांसदों से समर्थन का अनुरोध करते हुए कहा था कि जब दुनिया भर में आर्थिक मंदी का तूफ़ान आया हुआ है तब इटली को निरंतरता की ज़रुरत है और ऐसे समय में उन्हें अपदस्थ करना 'पागलपन' होगा.

महिलाओं के साथ बर्लुस्कोनी के संबंधों के विवाद की वजह से उनका वैवाहिक संबंध तो नहीं बच पाया लेकिन वे अपनी कुर्सी अब तक बचाने में सफल रहे हैं.

पिछले नवंबर में एक 17 वर्षीय नर्तकी रूबी से उनके संबंधों को लेकर बड़ा विवाद हुआ था. लेकिन बर्लुस्कोनी ने इसे ख़ारिज कर दिया था.

बर्लुस्कोनी एक बड़े व्यावसायी हैं और अपने व्यक्तिगत जीवन के विवादों से घिरे रहे हैं. वे अपने विवादास्पद बयानों के लिए भी जाने जाते हैं.

संबंधित समाचार