विश्व बैंक के कोष को सबसे बड़ी सहायता

Image caption विश्व बैंक का यह कोष दुनिया के सबसे ग़रीब देशों की मदद के लिए बना है.

दुनिया के सबसे ग़रीब देशों की मदद के लिए बने विश्व बैंक के कोष को अबतक की सबसे बड़ी आर्थिक मदद मिलने का आश्वाशन मिला है.

विश्व बैंक के इस कोष के लिए पचास अरब डॉलर की सहायता मिली है और ये सहायता ज़्यादातर अमीर देशों की ओर से मिली है.

वो भी ऐसे समय में जबकि आर्थिक मंदी के चलते तमाम देशों के बजट पर भारी आर्थिक दबाव है.

एक यूरोपीय अधिकारी का कहना है कि इस सहायता राशि का आधे से ज़्यादा हिस्सा यूरोपीय संघ के देशों की ओर से मुहैया कराया गया है.

इस कोष को हर तीसरे साल भरा जाता है.

विश्व बैंक का कहना है कि इस आर्थिक मदद का इस्तेमाल दुनिया के सबसे ग़रीब 79 देशों में ग़रीबी हटाने और विकास को बढ़ाने के लिए किया जाएगा.

आर्थिक मंदी के इस दौर में तब जबकि अमीर देशों पर ख़ुद अपने बजट में कटौती का दबाव है, इतने बड़े स्तर की आर्थिक मदद को एक अत्यंत ही महत्त्वपूर्ण क़दम माना जा रहा है.

इस मदद को 18 प्रतिशत के इज़ाफ़े के तौर पर देखा जा रहा है.

विश्व बैंक के अधिकारी मानते हैं कि इस आर्थिक मदद से सहस्त्राब्दि विकास लक्ष्य के कुछ महत्त्वपूर्ण अंशों को पूरा करने में सहायता मिलेगी.

अधिकारियों का कहना है कि इस आर्थिक मदद से बैंक 20 करोड़ बच्चों के टीकाकरण और क़रीब तीन करोड़ लोगों की स्वास्थ्य व्यवस्था का इंतज़ाम कर सकेगा.

बैंक के एक यूरोपीय अधिकारी ने बताया है कि कुल आर्थिक मदद का 43 प्रतिशत यूरोपीय संघ के देश दे रहे हैं.

माना जा रहा है कि इस मदद का कुछ हिस्सा चीन और दक्षिण कोरिया से भी आ रहा है.

संबंधित समाचार