असांज ज़मानत पर रिहा

  • 17 दिसंबर 2010
असांज

विकीलिक्स के संस्थापक जूलियन असांज की रिहाई हो गई है.

असांज को लंदन की एक जेल से रिहा कर दिया गया है.

रिहा किए जाने के बाद उन्होंने दुनिया भर में रह रहे अपने समर्थकों को अपने समर्थन और ज़मानत की रकम के लिए 30 लाख डॉलर से ज़्यादा की रकम देने के लिए धन्यवाद दिया.

रिहाई के तुरंत बाद पत्रकारों से असांज ने कहा,"अगर न्याय ही हमेशा परिणाम नहीं होता है तो कम से कम वह मरा भी नहीं है."

असांज ने कहा कि वो इस मामले में अपनी लड़ाई आगे भी जारी रखेंगे.

असांज का कहना था कि "मैं अपना काम जारी रखने की उम्मीद करता हूँ, और यह भी उम्मीद करता हूँ कि इस मामले में ख़ुद को निर्दोष साबित करने की कोशिश जारी रखूँगा.अभी हमें इस मामले में सबूत नहीं मिले हैं, लेकिन जब वो मिलेंगे तब मैं उन्हें ज़ाहिर करूँगा."

असांज ने पिछले आठ दिन लंदन की जेल में गुज़ारे हैं.

वकीलों ने उनकी रिहाई के ख़िलाफ़ दूसरी बार अपील दाखिल की थी लेकिन वो असफल रहे.

उनपर स्वीडन में आरोप है कि उन्होंने दो महिलाओं का शारीरिक उत्पीड़न किया है.

इसी सिलसिले में स्वीडन की पुलिस असांज से पूछताछ करना चाहती है.

असांज इस आरोप का खंडन करते हैं.

अगले साल असांज को लंदन से प्रत्यर्पित किए जाने के मामले की सुनवाई भी होनी है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार