कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़ा, सुरक्षा परिषद की बैठक

दक्षिण कोरियाई सैनिक
Image caption दक्षिण कोरिया सैन्य अभ्यास करने पर अड़ा हुआ है

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद रविवार को एक आपात बैठक में कोरिया प्रायद्वीप में तनाव पर चर्चा करेगी. दूसरी ओर दक्षिण कोरिया ने उस टापू पर सैन्य अभ्यास की योजना को रद्द करने से साफ़ इनकार कर दिया है जहाँ पिछले महीने उत्तर कोरिया ने गोलाबारी की थी.

अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने इस मुद्दे पर दक्षिण कोरिया से संयम बरतने की अपील की थी.

उत्तर कोरिया ने धमकी दी थी कि यदि सैन्य अभ्यास होते हैं तो व्यापक तबाही हो सकती है.

उत्तर कोरिया में निजी दौरे पर गए अमरीकी प्रांत न्यू मेक्सिको के गवर्नर बिल रिचर्डसन ने दोबारा उत्तर कोरिया से अपील की है कि वह संयम बरते.

'लाइव-फ़ायर और चीन-रूस की चिंता'

बीबीसी के मार्कस जॉर्ज के मुताबिक रूस के अनुरोध पर कोरियाई मुद्दे पर बुलाई गई सुरक्षा परिषद की आपात बैठक प्रायद्वीप में तनाव के बारे में अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चिंता का प्रतीक है.

फ़िलहाल ये स्पष्ट नहीं है कि सुरक्षा परिषद क्या निर्णय लेगी लेकिन ऐसा संभव है कि तनाव को बढ़ने से रोकने के लिए कोई बयान जारी किया जाए.

दक्षिण कोरिया ने स्पष्ट कर दिया है कि योंगप्योंग टापू में वह 'लाइव-फ़ायर' सैन्य अभ्यास करेगा यानी इसके दौरान असल गोलाबारी होगी.

उधर उत्तर कोरिया ने कहा है कि पिछले महीने की गोलाबारी, पिछली बार वहाँ हुए सैन्य अभ्यास के जवाब में हुई थी. उत्तर कोरिया ने ये भी कहा है कि यदि सैन्य अभ्यास होता है तो वह जवाबी कार्रवाई करेगा.

चीन और रूस की सीमा उत्तर कोरिया के साथ लगती है और दोनों ही देश इस घटनाक्रम पर काफ़ी चिंतित हैं.

चीन ने इस स्थिति को काफ़ी नाज़ुक बताया है जबकि रूस ने दक्षिण कोरिया से कहा है कि वह अपना सैन्य अभ्यास का कार्यक्रम रद्द कर दे.

संबंधित समाचार