आईसीसी ने बट्ट की अपील ख़ारिज की

पाकिस्तान
Image caption पाकिस्तानी खिलाड़ी बट्ट, आसिफ़ और आमिर पर 'स्पॉट फ़िक्सिंग' का आरोप है

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कॉउंसिल ने पाकिस्तान के निलंबित टेस्ट कप्तान सलमान बट्ट की उस अपील को ख़ारिज कर दिया है जिसमें उन्होंने अपने ख़िलाफ़ चल रहे 'स्पॉट फ़िक्सिंग' के मामले में सुनवाई आगे बढ़ाने की अर्ज़ी दी थी.

इस मामले पर सुनवाई वर्ष 2011 के जनवरी महीने में होनी है.

समाचार एजेंसी एएफ़पी से बातचीत में ज़्यादा कुछ बोले बिना सलमान बट्ट ने कहा,'' हाँ, मेरी अपील ख़ारिज कर दी गई है.''

बट्ट के अलावा पाकिस्तान के दो खिलाड़ियों मोहम्मद आसिफ़ और मोहम्मद आमिर को भी 'स्पॉट-फ़िक्सिंग' मामले में निलंबित किया गया था.

इन दो खिलाड़ियों ने इस सुनवाई को आगे बढ़ाने वाली बट्ट की अपील का समर्थन नहीं किया था.

स्पॉट फ़िक्सिंग के आरोप

Image caption सलमान बट्ट उस टेस्ट में टीम की कप्तानी कर रहे थे.

ये सुनवाई क़तर में होनी है.

सलमान बट्ट के अलावा तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद आसिफ़ और मोहम्मद आमिर पर आरोप है कि उन्होंने पहले से तय ओवर और गेंद पर 'नो बॉल' फेंकीं और इस जानकारी का सट्टेबाज़ों ने लाभ उठाया.

'स्पॉट फ़िक्सिंग' का ये आरोप इंग्लैंड के ख़िलाफ़ चौथे टेस्ट में सामने आया जब ब्रिटेन के 'न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड' अख़बार ने इसका भांडाफोड़ किया था.

पाकिस्तान ये मैच हार गया था.

इसके बाद आईसीसी ने इन तीनों को निलंबित कर दिया था.

ब्रितानी अख़बार ने ये दावा किया था की इन तीनों निलंबित खिलाड़ियों के अलावा कई पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने लॉर्ड्स टेस्ट के दौरान कथित सट्टेबाज़ मज़हर माजिद से पैसे लेकर उनके निर्देश पर खेल खेला.

संबंधित समाचार