रोम में हुआ विशेष क्रिसमस मास

इटली की राजधानी रोम में पोप बेनेडिक्ट की अगुवाई में लोगों ने मिलकर क्रिसमस मास की प्रार्थना सभा में हिस्सा लिया. सेंट पीटर बासिलिका में बड़ी संख्या में श्रद्धालु और पर्यटक इक्ट्ठा हुए थे.

इसके बाद पोप ने क्रिसमस के मौक़े पर परंपरागत अपने संदेश में भगवान से 'शांति' के साथ-साथ दमन चक्र को तोड़ने की प्रार्थना की.

पोप का कहा,''हम ख़ुशनसीब है की भगवान एक बच्चे की तरह ख़ुद को हमारे हवाले कर देता है जैसे वो हमारे प्यार की भीख मांग रहा हो ताकि हमारे दिलों में शांति बनाए बनी रहे.''

उन्होंने आगे कहा, "भगवान भाई-बहन के तौर पर हमारी एक साथ रहने में मदद करता है ताकि एक परिवार बन सके."

सुरक्षा इंतज़ाम

रोम में कुछ दिन पहले दो दूतावासों में पार्सल बम फटने के कारण क्रिसमस मास के मौके पर कड़े सुरक्षा इंतज़ाम किए गए थे.

पोप ने जब प्रवेश किया था उनके साथ सादे कपड़ों में सुरक्षाकर्मी भी थे.

पिछले साल क्रिसमस मास के दौरान एक महिला बैरियर को तोड़कर पोप के पास आ गई थी जिसके बाद पोप गिरते गिरते बचे थे.

पोप बेनेडिक्ट क्रिसमस के दिन लोगों को संदेश देंगे और बाद में वे वेटिक्न के हॉल में 350 बेघर लोगों के लिए क्रिसमस भोज रखेंगे.

पोप ने बीबीसी पर दिए अपने पहले प्रसारण में कहा है कि भगवान अपने वादे निभाता है लेकिन ये वादे वो जिस तरह पूरे करते है वो हमें भी हैरत में डाल देता है.ब्रिटेन के लिए पोप का क्रिसमस संदेश रेडियो4 पर प्रसारित किया गया है.

उधर मध्य पूर्व में पश्चिमी बैंक के शहर बेथलेहम में भी हज़ारों लोग क्रिसमस के मौके पर इकट्ठा हुए हैं.बेथहेलम आए फ़लस्तीनी नेता महमूद अब्बास ने उम्मीद जताई कि नया साल शांति लाएगा.

संबंधित समाचार