चरमपंथी साज़िश मामले में आरोप पत्र

  • 27 दिसंबर 2010
Image caption पुलिस ने एक साथ तीन शहरों में कार्रवाई कर साज़िश को नाकाम करने का दावा किया है

ब्रिटेन में क्रिसमस के दौरान हमले की साज़िश रचने के आरोप में नौ लोगों के ख़िलाफ़ औपचारिक आरोप पत्र दाख़िल किया गया है.

चरमपंथी साज़िश में कथित रूप से शामिल इन लोगों के नाम हैं- मोहम्मद मोकसुदुर रहमान, शाह मोहम्मद लुत्फ़र रहमान (लंदन), गुरुकांत देसाई, उमर शरीफ़ लतीफ़, अब्दुल मलिक मियाँ (कार्डिफ़), नज़म हुसैन, उसमान ख़ान, मोहबुर्र रहमान और अबुल बशर मोहम्मद शाहजहाँ (स्टोक-ऑन-ट्रेंट).

ये लोग 19 वर्ष से 28 वर्ष तक की उम्र हैं. इन्हें सोमवार को लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया गया.

अदालत ने सभी नौ संदिग्धों को मामले की अगली सुनवाई तक न्यायिक हिरासत में रखने का आदेश दिया है. उन्हें 14 जनवरी को दोबारा अदालत में पेश किया जाएगा.

गंभीर आरोप

पुलिस ने सप्ताह भर पहले लंदन, कार्डिफ़ और स्ट्रोक-ऑन-ट्रेंट में एक साथ कार्रवाई करते हुए 12 लोगो को हिरासत में लिया था, जिनमें से तीन को बाद में छोड़ दिया गया.

शेष नौ लोगों पर पुलिस ने आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त होने का आरोप लगाया है. आरोप पत्र में विस्तार से बताया गया है कि कैसे इन लोगों ने हमले के लिए ठिकाने चुने, उन ठिकानों की टोह ली और विस्फोटक सामग्रियों का परीक्षण किया.

अभियोजन पक्ष ने अदालत को बताया कि संदिग्ध साज़िशकर्ता क्रिसमस से पहले ब्रिटेन के अलग-अलग हिस्सों में हमले करना चाहते थे. उन पर आरोप है कि वे कुछ राजनीतिक और धार्मिक हस्तियों को भी निशाना बनाने की योजना पर काम कर रहे थे.

संबंधित समाचार