अमरीका में बर्फ़ीले तूफ़ान, जनजीवन प्रभावित

Image caption अमरीका में भारी बर्फ़बारी हो रही है

अमरीका में बर्फीले तूफ़ान और भारी बर्फ़बारी के चलते जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. न्यूयॉर्क में 51 सेंटीमीटर तक बर्फ़बारी हुई और सौ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से बर्फ़ीली हवाएं चल रही हैं.

अमरीका के उत्तर-पूर्वी इलाकों में इस दौरान पिछले कुछ सालों से अब तक का सबसे ख़राब मौसम देखा गया है.

इससे कई इलाकों में दृश्यता शून्य हो गई है और हवाई सेवाएं बाधित हो रही हैं.

हवाई, सड़क और रेल यातायात पर इसका बुरा असर पड़ रहा है और सड़क यात्रियों को चेतावनी दी गई है कि वे बेहद ज़रूरी परिस्थितियों में ही अपने घरों से बाहर सड़कों पर निकलें.

सड़कें जाम होने कारण कई इलाकों में आपातकालीन सुविधाएं पहुंचाने में भी दिक्कतें आ रही हैं.

आपातकाल की घोषणा

हालांकि कई इलाकों में बर्फ़बारी रुक चुकी है लेकिन फिर भी जनजीवन बाधित हो रहा है.

इस बीच मैसेच्यूसैट्स, मैने, मैरीलैंड, न्यूजर्सी, उत्तरी कैरोलीना और वर्जीनिया के इलाके में आपातकाल की घोषणा कर दी गई है.

क्रिसमस से पहले जब ब्रिटेन में भारी बर्फ़बारी हुई थी तो आम लोगों ने आरोप लगाया था कि सरकार ने इन परिस्थितियों से निपटने के लिए ज़रूरी कदम नहीं उठाए.

सोमवार को अमरीका की राष्ट्रीय मौसम सेवा ने भारी हिमपात और तूफ़ान की चेतावनी जारी की थी.

अमरीका में 1882 के बाद पहली बार भारी बर्फ़बारी के बीच क्रिसमस मनाया गया.

इसके पहले यूरोप में लोग भारी बर्फ़बारी हुई थी. इस मौसम की वजह से ब्रिटेन, फ़्रांस और जर्मनी में सड़कें जाम हो गईं, रेल सेवाएँ रुक गईं और हवाई अड्डों को बंद करना पड़ा.

ब्रिटेन के हीथ्रो, गैटविक, पेरिस, एम्सटर्डम और बर्लिन हवाई अड्डों पर या तो उड़ानें बंद करनी पड़ीं या फिर उड़ानें अस्तव्यस्त हो गईं थीं.

संबंधित समाचार