दुनिया ने किया नए साल का स्वागत

  • 1 जनवरी 2011
Image caption हॉंगकॉंग में लोगों ने विक्टोरिया हार्बर में हुई आतिशबाज़ी का आनंद लिया.

दुनिया भर में लोगों ने हर्ष उल्लास के साथ नए साल का स्वागत किया. कहीं लोगों ने आकाश में रंग बिरगी आतिबाज़ी छोड़कर तो कहीं नाच गा कर नए साल का जश्न मनाया.

भारत में भी लोगों ने देर रात तक पार्टी की. हर जगह जश्न का माहौल था. सड़कें, मॉल और रेस्त्रां लोगों से भरे हुए थे.

कोई अनहोनी घटना न घटे इसे देखते हुए सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम किए गए थे.

दुनिया भर में नए साल की पूर्व संध्या पर अपनी आतिशबाज़ी के शो लिए मशहूर सिडनी में लोगो ने इसका आनंद लिया.

दुबई में सबसे लंबी इमारत बुर्ज ख़लीफ़ा में शानदार लेज़र तकनीक और आतिशबाज़ी के शो का आयोजन किया गया था जिसका लोगों ने लुत्फ़ उठाया.

यूरोप में नए साल के लिए आयोजित की गई पार्टियों में लोगों ने भाग लेकर नए साल का स्वागत किया.

लंदन की आई बिग व्हील की दसवीं वर्षगांठ के अवसर पर वहां से आतिशबाज़ी का आयोजन किया गया था. टेम्स नदी पर लोगों ने इकट्ठा होकर इस आतिशबाजी को देखा.

अंगूर खाने की परंपरा

स्पेन में लोग मैड्रिड के प्यु्र्ता डेल सो स्कवएर पर 'ला वास' यानि अंगूर खाने के लिए इकट्ठा हुए. स्पेन में ये परंपरा है कि जब घड़ी में 12 बजे का समय बताने के लिए घंटा 12 बजता है तो लोग हर घंटे के सुरीले स्वर के साथ अंगूर खाते हैं.

Image caption लोगों ने रंग बिरंगी आतिशबाज़ी का आनंद उठाया

तो उधर आर्थिक संकट से जूझ रहे ग्रीस में लोग समय से रोड टैक्स की अदायगी के लिए क़तार में लगे देखे गए.

लातिन अमरीका में क़रीब 20 लाख लोगों ने रिऑ डे जनेरियो कॉपकबाना समुद्रतट पर इकट्ठा होकर आतिबाज़ी और संगीत का आनंद लिया और 2016 में होने वाले ओलंपिक गेम्स के लोगो को जनता के सामने पेश किया.

न्यूयॉर्क में क़रीब लाखों की भीड़ ने प्रसिद्घ टाइम्स स्कवएर पर मध्यरात्रि में बॉल गिरने की परंपरा को देखा और उसका लुत्फ़ उठाया.

आतिशबाज़ी पर प्रतिबंध

हॉंगकॉंग में लोगों ने विक्टोरिया हार्बर में हुई आतिशबाज़ी का आनंद लिया.

टोक्यो के मध्य में स्थित ज़ोलोजी मंदिर में मध्यरात्रि तक मठाधीशों ने मंत्रोंच्चारण किया. कई लोगों ने चांदी रंग के गुब्बारों पर नोट लगाकर बेहतर भविष्य की कामना की.

बर्मा में सैन्य सरकार ने पटाखे़ या किसी तरह की आतिशबाज़ी करने पर प्रतिबंध लगाया हुआ था और लोगों को चेतावनी दी थी अगर लोग निर्देश नहीं मानेंगे तो सख़्त कार्रवाई की जाएगी.

फ़िलिपींस में सुरक्षा अधिकारियों ने आतिशबाज़ी छुड़ाते वक़्त सावधानी बरतने का संदेश दिया था. पिछले दिनों हुई आतिशबाज़ी की घटनाओं में 245 लोग घायल हो गए थे. वहां ये धारणा है कि शोर से बुराई और विपत्ति दूर भाग जाती है.

संबंधित समाचार