स्पेन: धूम्रपान पर कठोर प्रतिबंध

  • 2 जनवरी 2011
धूम्रपान
Image caption इन प्रतिबंधों से शाराबखानों, होटल और रेस्त्रों के मुनाफे पर 10 फ़ीसदी से भी ज्यादा का असर पड़ेगा.

यूरोपीय देश स्पेन में धूम्रपान पर लगे अब तक के सबसे कड़े प्रतिबंधों लागू किए गए हैं.

स्पेन में आधी रात से लागू हुए इन नियमों के चलते कम जगहों वाले सार्वजनिक स्थानों के अलावा अस्पताल, स्कूल और खेल के मैदानों के आसपास भी अब धूम्रपान वर्जित होगा.

स्पेन में इन दिनों ज़बर्दस्त आर्थिक मंदी का दौर है और माना जा रहा है कि इन प्रतिबंधों से शाराबखानों, होटल और रेस्त्रों के मुनाफे पर 10 फ़ीसदी से भी ज्यादा का असर पड़ेगा.

स्पेन में 2006 में कार्यक्षेत्रों में धूम्रपान पर रोक लगा दी गई थी लेकिन इसके बावजूद डाक्टरों का मानना है कि हर दिन 160 से ज़्यादा स्पेनी नागरिकों की तंबाकू से होने वाली बीमारियों के चलते मौत हो जाती है.

स्पेन के लगभग सभी शाराबखाने, होटल और रेस्त्रां सिगरेट और सिगार के धुंए से भरे रहते हैं. हालांकि नए नियम लागू होने के बाद इन जगहों पर धूम्रपान भी वर्जित होगा.

धूम्रपान के शौकीन लोग इस कानून से खुश नहीं. हालांकि इस कानून में फेरबदल की कोई गुंजाइश न देख उन्होंने इससे समझौता कर लिया है.

ऐसी ही एक महिला के अनुसार, ''मुझे अब इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ता. मैं यहां कॉफी पीने आती हूं और आती रहूंगी, हालांकि अब मुझे सिगरेट पाने को नहीं मिलेगी, जो पहले से ही काफी महंगी हो चुकी है.''

स्पेन में डॉक्टरों का मानना है कि धूम्रपान संबंधी ये नए प्रतिबंध मरीज़ों के लिए कारगर साबित होंगे और वो धूम्रपान की लत छोड़ पाएंगे.

स्पेन में धूम्रपान से होने वाली मौतों में हर एक में चौथा व्यक्ति पैसिव स्मोकिंग यानी परोक्ष रुप से धूम्रपान के कारण मौत का शिकार हो जाता है.

संबंधित समाचार