अमरीकी सांसद को गोली मारी गई

  • 9 जनवरी 2011
संसद में शपथ लेतीं गैबिएली गिफ़र्ड्स
Image caption गैब्रिएली गिफ़र्ड्स को शपथ दिलाते स्पीकर

अमरीका के एरिज़ोना प्रांत में एक सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान एक महिला सांसद को गोली मार दी गई है. इसी घटना में छह लोगों की मौत भी हुई है.

डॉक्टरों का कहना है कि सांसद की हालत अभी खतरे से बाहर नहीं है लेकिन वो सांसद की हालत के प्रति आशावान हैं.

गैब्रिएल गिफ़र्ड्स अमरीकी संसद की प्रतिनिधि सभा या निचले सदन की सदस्य हैं और उन्हें सैकड़ों लोगों के सामने एकदम नज़दीक से सर पर गोली मारी गई.

उनके साथ उनके सहायक कर्मचारियों और अन्य लोगों पर भी गोलीबारी की गई. इसमें नौ साल की एक बच्ची समेत कम से कम छह लोगों की मौत हो गई है.

गैब्रिएल गिलफ़र्ड्स और चार अन्य लोगों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया है. डॉक्टरों ने कहा है कि वे ग्रैबिएल की 'हालत में सुधार को लेकर आशावादी हैं'.

गोलीबारी के बाद पुलिस ने एक 22 वर्षीय युवक जैरेड लॉगनर को गिरफ़्तार किया है. अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि इस व्यक्ति ने गोली क्यों चलाई.

लेकिन एक प्रत्यक्षदर्शी का कहना है कि इस युवक ने स्वचालित बंदूक से गोलियाँ चलाईं.

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इस घटना को 'अकथनीय त्रासदी' क़रार दिया है.

'उदयीमान सितारा'

गोलीबारी एरिज़ोना के टूसॉन शहर में एक सुपरमार्केट में आयोजित कार्यक्रम के दौरान हुई.

राष्ट्रपति बराक ओबामा की डेमोक्रेटिक पार्टी की ही सदस्य गैब्रिएल गिलफ़र्ड्स वहाँ इस कार्यक्रम में शामिल होने पहुँची हुई थीं.

इसमें कई अन्य लोग घायल हुए हैं. अधिकारियों का कहना है कि कई लोगों को ऐसे ज़ख़्म लगे हैं कि जिससे उनकी जान को कोई ख़तरा नहीं है.

उन्होंने इस बात की पुष्टि की है कि एक फ़ेडरल जज भी इसमें गंभीर रुप से घायल हुए हैं.

गैब्रिएली गिफ़र्ड्स की उम्र 40 वर्ष है और वे एरिज़ोना के आठ ज़िलों का वर्ष 2007 से प्रतिनिधित्व कर रही हैं.

उनका विवाह अंतरिक्षयात्री मार्क केली के साथ हुआ है.

वे संसद के कई समितियों की भी सदस्य रहीं हैं जिनमें सैन्य और विदेश मामलों की समिति शामिल है.

डेमोक्रेटिक पार्टी की स्थानीय इकाई के चेयरमैन जेफ़ रोजर्स ने कहा है कि गैब्रिएल को 'एक उदयीमान सितारा'बताया है.

उन्होंने बीबीसी से कहा,"यह बहुत बुरी ख़बर है. वे बहुत अच्छी सांसद और अच्छी इंसान हैं."

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार