प्रधानमंत्री ने पार्टी पद से इस्तीफ़ा दिया

प्रधानमंत्री ब्रायन कोवेन
Image caption प्रधानमंत्री ब्रायन कोवेन का कहना है कि आयरलैंड को अब अंतरराष्ट्रीय बाज़ार से ऋण नहीं लेना पड़ेगा.

आर्थिक संकट से घिरे आयरलैंड के प्रधानमंत्री ब्रायन कावेन ने कहा है कि वे सत्ताधारी पार्टी के नेता के पद से इस्तीफ़ा दे रहे हैं लेकिन 11 मार्च को होने वाले चुनाव तक प्रधानमंत्री बने रहेंगे.

पिछला हफ़्ते राजनीतिक गहमागहमी भरा रहा. पार्टी के नेता पद के लिए हुए मतदान में तो ब्रायन कावेन सुरक्षित बच गए लेकिन उन्हें आम चुनाव करवाने की घोषणा के लिए मजबूर होना पड़ा. लेकिन प्रधानमंत्री बने रहने के उनके फ़ैसले के लिए कावेन की आलोचना हो रही है.

आयरलैंड के आर्थिक संकट के बाद से ब्रायन कावेन की लोकप्रियता में काफ़ी कमी आई है. नवंबर में देश की हालत इतनी ख़राब हो गई थी कि आयरलैंड ने यूरोपीय संघ से आर्थिक मदद की मांग करने का फ़ैसला किया था.

विभिन्न शर्तों के तहत यूरोपीय संघ और आईएमएफ़ इस आयरलैंड को आर्थिक पैकेज दे रहा है.

इस आर्थिक पैकेज के दो मकसद होंगें – एक तो 25 अरब डॉलर के सरकारी घाटे की पूर्ती करना और दूसरा देश के बैंकिग क्षेत्र को मज़बूत करना.

आयरलैंड में कई तरह की कटौतियों की घोषणा भी की गई है जिसके बाद वहाँ बड़े पैमाने पर प्रदर्शन भी हुए थे.

पिछले कुछ सालों में आयरलैंड का आर्थिक विकास प्रॉपर्टी बाज़ार के बूते पर ही हो रहा था, लेकिन 2008 से इस क्षेत्र में भारी नुकसान देखा जा रहा है. मकानों की कीमत में 50 से 60 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है और डूबे हुए कर्ज़ में बढ़त होने लगी है.

इसका सीधा असर वहां के मुख्य बैंकों पर पड़ा और ऐसी स्थिति में बैंकों को सरकार के आगे हाथ फैलाने पड़े. परिणामस्वरुप देश की सरकार को यूरोपीय संघ से मदद की गुहार लगानी पड़ी.

संबंधित समाचार