फांसी को लेकर नीदरलैंड-ईरान में तनाव

ज़हरा बहरामी इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption नीदरलैंड सरकार ने कहा है कि वो ज़हरा बहरामी की फांसी का मामला यूरोपीय संघ की बैठक में उठाएगी

नीदरलैंड की हुकूमत ने अपने एक नागरिक की हत्या के विरोध में ईरान से सभी संबंधों पर रोक लगा दी है.

ईरान ने हाल में ही नीदरलैंड की एक नागरिक ज़हरा बहरामी को मादक पदार्थों की तस्करी के आरोप में फांसी दे दी थी.

नीदरलैंड के विदेश मंत्री यूरी रोज़नथल का कहना है कि वो ईरान के इस क़दम से बेहद सकते में हैं.

यूरी रोज़नथल ने कहा है कि ईरान ने शुक्रवार को ही उन्हें आश्वासन दिया था कि इस मामले में सारी क़ानूनी प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है.

यूरोपीय देशों के विदेश मंत्रालय ने ईरान में मौजूद हुकूमत को एक क्रूर शासन के नाम से बुलाया है.

ख़बरों के मुताबिक़ नीदरलैंड ने ज़हरा बहरामी के बचाव के लिए वकीलों का भी इंतज़ाम किया था.

ईरान ने नीदरलैंड के राजनयिकों को उनसे मिलने ही नहीं दिया क्योंकि वो बहरामी की नई नागरिकता को मानने को तैयार नहीं थे.

मूलत ईरान से संबंध रखनेवाली ज़हरा बहरामी ने बाद में नीदरलैंड की नागरिकता स्वीकार कर ली थी.

ईरान ने 2009 के सरकार विरोधी प्रर्दशन में हिस्सा लेने के लिए गिरफ्तार कर लिया था.

ये प्रदर्शन ईरान में हुए राष्ट्रपति चुनाव के विरोध में हुए थे जिसे कुछ हलकों और मुल्कों ने विवादित बताया था. हालांकि ईरान इससे इनकार करता है.

बाद में ईरान प्रशासन ने ज़हरा बहरामी पर मादक पदार्थों की तस्करी का इल्ज़ाम लगाया था.

पीड़ित महिला के परिवार का कहना है कि ये सारे आरोप ईरान प्रशासन ने गढ़े हैं.

संबंधित समाचार