ईरान में अमरीकियों के ख़िलाफ़ सुनवाई

  • 6 फरवरी 2011
अमरीकी पैदल यात्री

ईरान में तीन अमरीकी यात्रियों के ख़िलाफ़ जासूसी के आरोपों की सुनवाई शुरू हुई है.

सारा शोर्द, शेन बौर और जौश फैटल को 2009 में इराक़ सीमा से ईरान में प्रवेश करने पर गिरफ़्तार कर लिया गया था.

इन लोगों का कहना है कि वो पैदल यात्रा पर थे और ग़लती से इराक़ की सीमा को पार कर ईरान पहुँच गए थे.

इन तीनों में से दो शेन बौर, जौश फैटल अभी तक राजधानी तेहरान की जेल में बंद हैं.

जबकि सारा शोर्द को ज़मानत पर रिहा कर दिया गया था और वो सितंबर में अमरीका वापस लौट गईं थीं.

उनके ईरान स्थित वकील मसूद सैफ़ी का कहना है कि वो सारा शोर्द की ओर से मिले एक लिखित बयान को अदालत के समक्ष पेश करेंगे.

उनका कहना था कि उन्हें अब तक अन्य दोनों लोगों से मिलने को वक़्त नहीं दिया है इसलिए वो बचाव की दलीलें तैयार नहीं कर पाए हैं.

उल्लेखनीय है कि ईरान और अमरीका के संबंध तनावपूर्ण हैं.

हाल में नीदरलैंड की सरकार ने भी अपने एक नागरिक को फांसी के विरोध में ईरान से सभी संबंधों पर रोक लगा दी थी.

ईरान ने नीदरलैंड की एक नागरिक ज़हरा बहरामी को मादक पदार्थों की तस्करी के आरोप में फांसी दे दी थी.

नीदरलैंड सरकार का कहना था कि वो ईरान के इस क़दम से बेहद सकते में हैं.

संबंधित समाचार