अमरीकियों की नज़र में चीन का ख़ासा महत्व, भारत का कम

चीन और अमरीका के झंडे
Image caption गैलप का सर्वेक्षण 1015 अमरीकियों के बीच हुआ

अमरीकी नागरिकों की नज़र में चीन में जो कुछ होता है वह उनके लिए ख़ासा महत्व रखता है जबकि भारत में जो गतिविधियाँ होती हैं उन्हें अमरीकी अपने लिए उतना महत्वपूर्ण नहीं मानते.

जानी-मानी संस्था गैलप के एक सर्वेक्षण से सामने आया है कि 70 प्रतिशत अमरीकी चीन में जो कुछ भी घटता है कि उसे अमरीका के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण मानते हैं.

जिस देश की गतिविधियों को अमरीकी दूसरे नंबर पर अत्यंत महत्वपूर्ण मानते हैं वह है उत्तर कोरिया (59 प्रतिशत) और उसके बाद महत्व में आता है ईरान (57 प्रतिशत).

महत्वपूर्ण है कि केवल 48 प्रतिशत अमरीकी पाकिस्तान में हो रही गतिविधियों को अमरीका के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण मानते हैं और यह इस सूची में आठवें नंबर पर आता है.

उधर भारत पाकिस्तान से भी पीछे 12वे नंबर पर है. इस संस्था के सर्वेक्षण के अनुसार मात्र 31 प्रतिशत अमरीकी मानते हैं कि भारत में हो रही गतिविधियाँ अमरीका के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं.

हालाँकि मिस्र दुनिया भर में सुर्खियों में बना हुआ है लेकिन केवल 45 प्रतिशत अमरीकी मानते हैं कि वहाँ जो कुछ हो रहा है वह अमरीका के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है.

ग़ौरतलब है कि वर्ष 2007 में 70 प्रतिशत अमरीकी इराक़ में हो रही घटनाओं को अपने लिए महत्वपूर्ण मान रहे थे जबकि अब ये प्रतिशत घटकर 52 रह गया है.

ये सर्वेक्षण फ़रवरी दो से पाँच के बीच में 1015 अमरीकी लोगों के बीच सवाल-जबाव के ज़रिए कराया गया.

संबंधित समाचार