वॉशिंगटन डायरी

मुसलमान और ईसाई इमेज कॉपीरइट none

अहमदिया समुदाय कई मुस्लिम देशों में ख़ास तौर से पाकिस्तान में ग़ैर मुस्लिम समझा जाता है जिसके कारण उन्हें परेशान भी किया जाता है.

लेकिन अमरीका के अहमदिया समुदाय ने इस्लाम की सेवा करने का बीड़ा उठा लिया है.

पिछले दिनों अमरीका के अहमदिया समुदाय ने 'मुस्लिम फॉर लोयल्टी' नाम से देश भर में एक अभियान शुरू किया है जिसका मक़सद अमरीकियों को ये बताना है कि इस्लाम का दूसरा नाम शांति है.

अमरीका में मुसलमानों को अक्सर चरमपंथी हमलों और धार्मिक कट्टरपंथ से जोड़ा जाता है लेकिन इस अभियान के ज़रिए ये बताने की कोशिश की जा रही है कि आतंक और धर्म के नाम पर बल का इस्तेमाल करना सही इस्लाम को नकारना है.

इस अभियान को चलाने वाले कहते हैं कि इस मुहिम से वो अमरीकी मुसलमानों को भी ये बताना चाहते हैं कि देशप्रेम इस्लाम का एक हिस्सा है.

उनके अनुसार अगर वो मुस्लिम युवाओं को देशभक्ति का पाठ नहीं पढ़ाएंगे तो इससे चरमपंथियों को उन्हें बहकाने का मौक़ा मिलता रहेगा. रिकॉर्ड घाटा

वर्ष 2010 में अमरीका का व्यापारिक घाटा लगभग 500 अरब डालर तक पहुँच गया जो अमरीका का अब तक रिकॉर्ड घाटा है.

उसके पहले ये घाटा 374 अरब डालर था यानी दूसरे शब्दों में अमरीका ने पिछले साल 2.33 खरब डालर की लागत का सामान आयात किया जबकि 1.83 खरब डालर की लागत का सामान निर्यात किया.

इसका ख़ास कारण था तेल के दाम में बढ़त.

व्यापार में इतना भारी असंतुलन के बावजूद अमरीका दुनियाभर के देशों में आयात में सबसे आगे है और कई देशों की अर्थव्यवस्था अमरीका के आयात पर जिंदा है.

निर्यात में भी तेज़ी से बढ़ोत्तरी हो रही है, पर निर्यात जिस तेज़ी से बढ़ रहा है उससे राष्ट्रपति बराक ओबामा का 2015 तक इसे दोगुना करने का सपना पूरा होने की संभावना है.

आयात और निर्यात में इस असंतुलन का ख़ास कारण था अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में तेल की तेज़ी से बढ़ती हुई कीमत. अमरीका विदेशी तेल पर काफ़ी निर्भर करता है.

अर्नाल्ड श्वार्ज़नेगर की वापसी

कैलिफोर्निया राज्य के गवर्नर के पद से रिटायर हुए अर्नाल्ड श्वार्ज़नेगर अब हॉलीवुड में वापस जा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अर्नाल्ड श्वार्ज़नेगर अब हॉलीवुड में वापस जा रहे हैं

अमरीकी अख़बारों की रिपोर्टों के मुताबिक हॉलीवुड में कई सफल फ़िल्में कर चुके अर्नाल्ड श्वार्ज़नेगर इस समय कई स्क्रिप्ट पढ़ रहे हैं.

उनके एक प्रवक्ता के अनुसार वो फ़िल्मों में काम करने के लिए बहुत बेचैन हैं.

फिलहाल उन्होंने किसी फ़िल्म के लिए हामी नहीं भरी है.

अर्नाल्ड श्वार्ज़नेगर कैलिफोर्निया राज्य के एक लोकप्रिय गवर्नर थे.

फ़िल्मों में वो बढ़िया एक्शन के लिए जाने जाते हैं.

संबंधित समाचार