सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पें

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption हुसैन मूसावी और मेहदी करौबी की गुमशुदगी को लेकर आरोप-प्रत्यारोप जारी हैं.

ईरान की राजधानी तेहरान में कई जगहों पर विपक्ष का समर्थन कर रहे प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों के बीच झड़पें हुई हैं.

विपक्षी दलों के समर्थन में हो रहे प्रदर्शनों को रोकने के लिए सुरक्षाबलों ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस छोड़ी.

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक तेहरान में चप्पे-चप्पे पर सरकार और नागरिक सेना तैनात है. सुरक्षाबल आंसू गैस और लाठियों के ज़रिए प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने की कोशिश कर रहे हैं.

इस बीच विपक्षी नेता हुसैन मूसावी और मेहदी करौबी के कथित तौर पर कै़द में होने को लेकर विपक्ष ने 'ग्रीन मूवमेंट' के तहत प्रदर्शन तेज़ करने की अपील की है.

भीड़ को घेरने-रोकने की कोशिश

सोमवार को इन नेताओं के परिजनों ने कहा था कि इन नेताओं को और उनके परिवार को घर से उठा लिया गया है. हालांकि सरकार ने कहा है कि ये दोनों नेता सरकारी कैद में नहीं है.

ग़ौरतलब है कि ट्यूनिशिया और मिस्र में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के समर्थन में रैली किए जाने को लेकर होसैन मुस्सावी और मेहदी करौबी को नज़रबंद कर दिया गया था.

बीबीसी संवाददाता मोहसिन अग़सारी के मुताबिक तेहरान में भारी संख्या में दंगा-निरोधी पुलिस बल और नागरिक सेना के लोग मोटरसाइकिलों पर प्रदर्शनकारियों और भीड़ को घेरने और रोकने की कोशिश में जुटे हैं.

रविवार को हुसैन मूसावी और मेहदी करौबी ने एक वेबसाइट पर जारी बयान के ज़रिए कहा था कि उन्हें क़ैद कर लिया गया है.

बीबीसी संवाददाता के मुताबिक सुरक्षाबलों ने शाम की शुरुआत में ही तेहरान को अपने कब्ज़े में ले लिया और नागरिक सेना के लोग जीत के नारे लगा रहे थे.

संबंधित समाचार