लीबिया: गद्दाफ़ी विरोधियों के ख़िलाफ़ हवाई हमले

ब्रेगा इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption गद्दाफ़ी ने कहा है कि वे अंतिम क्षण तक विरोधियों से लड़ेगे

लीबिया में कर्नल गद्दाफ़ी के समर्थकों और सरकार के विरोधियों के बीच भीषण लड़ाई के एक दिन बाद गद्दाफ़ी समर्थकों ने ब्रेगा नगर को निशाना बनाते हुए हवाई हमले शुरु कर दिए हैं.

ये जानकारी बीबीसी को सूत्रों से प्राप्त हुई है. विद्रोहियों के एक प्रवक्ता के अनुसार लड़ाकू विमानों ने अजदाबिया शहर पर भी बमबारी की है.

लीबिया में कई हफ़्तों से चल रहे विरोध प्रदर्शनों के बाद देश के पूर्वी भाग पर सरकार के विरोधियों का कब्ज़ा हो गया है.

लीबिया का आंखों देखा हाल

कर्नल गद्दाफ़ी लीबिया पर लगभग 42 साल से शासन कर रहे हैं और उनके विरोधियों का कहना है कि वे सत्ता छोड़ें और लोकतांत्रिक व्यवस्था कायम की जाए.

चाहे लीबिया की लगभग आधी भूमि पर कर्नल गद्दाफ़ी का नियंत्रण नहीं है लेकिन उन्हें सत्ता छोड़ने से साफ़ इनकार कर दिया है और कहा है कि अंतिम क्षण तक विद्रोहियों का सामना करेंगे.

उधर रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स ने लीबिया पर किसी 'नो फ़्लाई ज़ोन' थोपे जाने की संभावना को ज़्यादा तूल नहीं दिया है.

नीदरलैंड के तीन नाविक कब्ज़े में

ब्रेगा नगर में तेल के कुँए हैं. कर्नल गद्दाफ़ी की समर्थक फ़ौजों ने बुधवार को ब्रेगा नगर पर कब्ज़ा कर दिया था लेकिन जब गद्दाफ़ी विरोधियों ने उनका सामना किया तो उन्हें नगर के हटना पड़ा था. इस संघर्ष में 14 लोग मारे गए थे.

लीबिया की सेना ने लूट लिया

इसके बाद ब्रेगा की हवाई हमलों के ज़रिए बमबारी शुरु हुई है. कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि बमबारी का निशाना तेल के टर्मिनल से सटा हुई हवाई पट्टी थी.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption पूर्वी लीबिया से हज़ारों लोगों का पलायन हो रहा है

विद्रोहियों का कहना है कि गद्दाफ़ी समर्थक फ़ौजें रास लानुफ़ में हैं जो ब्रेगा के पश्चिम में है और वहाँ से एक और हमला करने की योजना बनाई जा रही है.

गद्दाफ़ी अब भी सत्ता में कैसे टिके हैं?

उधर नीदरलैंड ने इस बात की पुष्टि की है कि उसके तीन नाविकों को गद्दाफ़ी समर्थक फ़ौजों ने कब्ज़े में ले लिया है.

ये दो यूरोपीय नागरिकों को लीबिया से बाहर निकालने का प्रयास कर रहे थे. नीदरलैंड की सरकार का कहना है कि वह लीबियाई अधिकारियों के साथ बातचीत कर रही है.

गद्दाफ़ी की रणनीति

उधर राजधानी त्रिपोली में शांति है और ट्रैफ़िक सामान्य है.

त्रिपोली में लीबिया की लगभग आधी आबादी रहती है और कर्नल गद्दाफ़ी की रणनीति त्रिपोली पर पूरी कब्ज़ा कायम रखने और विरोधियों को धीरे-धीरे अन्य जगहों से खदेड़ने की है.

प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ बल प्रयोग के कारण राजधानी में लोगों के सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करने में कई बाधाएँ हैं और यदि मिस्र या ट्यूनिशिया जैसे बड़े प्रदर्शन त्रिपोली में नहीं हो पाते तो कर्नल गद्दाफ़ी फ़िलहाल सत्ता में बने रह सकते हैं.

संबंधित समाचार