लीबिया: कथित अपराधों की जाँच शुरु

  • 3 मार्च 2011
इमेज कॉपीरइट AFP

अंतरराष्ट्रीय आपराधिक कोर्ट (आईसीसी) ने पुष्टि की है कि लीबिया में मानवता के प्रति कथित अपराधों के मामले में जाँच शुरु की जा रही है.

मुख्य अभियोजक ने बताया कि ये जाँच कर्नल गद्दाफ़ी, उनके बेटों और उनकी निजी सुरक्षा के प्रमुख के ख़िलाफ़ होगी. उन सब लोगों को नोटिस दिया गया है कि अगर उनके तहत आने वाले सुरक्षाबलों ने आपराधिक कृत्य किए हैं तो इसके लिए उन्हें ही ज़िम्मेदार माना जाएगा.

इस बीच लीबिया में कर्नल गद्दाफ़ी के समर्थकों और सरकार के विरोधियों के बीच भीषण लड़ाई के एक दिन बाद गद्दाफ़ी समर्थकों ने ब्रेगा नगर को निशाना बनाते हुए हवाई हमले शुरु कर दिए हैं.

ये जानकारी बीबीसी को सूत्रों से प्राप्त हुई है. विद्रोहियों के एक प्रवक्ता के अनुसार लड़ाकू विमानों ने अजदाबिया शहर पर भी बमबारी की है.

लीबिया में कई हफ़्तों से चल रहे विरोध प्रदर्शनों के बाद देश के पूर्वी भाग पर सरकार के विरोधियों का कब्ज़ा हो गया है.

लड़ाई

इमेज कॉपीरइट Reuters (audio)

ब्रेगा नगर में तेल के कुँए हैं. कर्नल गद्दाफ़ी की समर्थक फ़ौजों ने बुधवार को ब्रेगा नगर पर कब्ज़ा कर दिया था लेकिन जब गद्दाफ़ी विरोधियों ने उनका सामना किया तो उन्हें नगर के हटना पड़ा था. इस संघर्ष में 14 लोग मारे गए थे.

इसके बाद ब्रेगा की हवाई हमलों के ज़रिए बमबारी शुरु हुई है. कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि बमबारी का निशाना तेल के टर्मिनल से सटा हुई हवाई पट्टी थी.

विद्रोहियों का कहना है कि गद्दाफ़ी समर्थक फ़ौजें रास लानुफ़ में हैं जो ब्रेगा के पश्चिम में है और वहाँ से एक और हमला करने की योजना बनाई जा रही है.

कर्नल गद्दाफ़ी लीबिया पर लगभग 42 साल से शासन कर रहे हैं और उनके विरोधियों का कहना है कि वे सत्ता छोड़ें और लोकतांत्रिक व्यवस्था कायम की जाए.

चाहे लीबिया की लगभग आधी भूमि पर कर्नल गद्दाफ़ी का नियंत्रण नहीं है लेकिन उन्हें सत्ता छोड़ने से साफ़ इनकार कर दिया है और कहा है कि अंतिम क्षण तक विद्रोहियों का सामना करेंगे.

उधर रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स ने लीबिया पर किसी 'नो फ़्लाई ज़ोन' थोपे जाने की संभावना को ज़्यादा तूल नहीं दिया है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार