चीन का रक्षा बजट अब 90 अरब डॉलर से ऊपर

Image caption चीन का कहना है कि उनका रक्षा बजट दूसरे देशों के मुक़ाबले कम है.

चीन ने कहा है कि वो अपने रक्षा बजट में 12 प्रतिशत से भी ज़्यादा की वृद्धि करने जा रहा है. नब्बे अरब डॉलर का ये बजट उसके पड़ोसियों की नींद उड़ा रहा है.

चीन सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा है कि चीन का रक्षा बजट अन्य देशों के मुक़ाबले कम है लेकिन कई पर्यवेक्षकों का कहना है कि चीन का वास्तविक रक्षा बजट इन आंकड़े से कहीं ज़्यादा है.

बेजिंग से बीबीसी संवाददाता मार्टिन पेशेंस का कहना है कि रक्षा बजट में ये बढ़ोतरी क्षेत्र के लिए चिंता का विषय बन सकती है.

जापान के मुख्य कैबिनेट सचिव यूकी एडना ने कहा है, “चीन का सैन्य आधुनिकीकरण कार्यक्रम और उसमें पारदर्शिता की कमी चिंता का विषय है.”

चीन और जापान के रिश्ते साउथ चाइना सी के द्वीपों पर अधिकार के मामले की वजह से तनावपूर्ण हैं. ये वो इलाके हैं जहां तेल और गैस के भारी भंडारों के होने की संभावना है.

चीन आधुनिक लड़ाकू विमान और मिसाइल सिस्टम का निर्माण कर रहा है. लेकिन उनका कहना है कि ये सभी आधुनिकीकरण कार्यक्रम शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए हैं.

चीन ने 2010 में अपने रक्षा बजट में 7.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी की थी.

बेजिंग में इकॉनोमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट के डंकन इंस-कर का कहना है, “इसमें कोई दोराय नहीं है कि चीन की सैन्य शक्ति में काफ़ी बढ़ोतरी हो रही है.”

उनका कहना था, “आगे बढ़कर अपने विरोधी को मटियामेट कर देने की उसकी क्षमता स्पष्ट रूप से बढ़ रही है.”

लेकिन साथ ही उनका कहना है कि इस बात के आसार कम हैं कि क्षेत्रीय सीमा विवादों को लेकर युद्ध की नौबत आएगी.

Image caption चीन अत्याधुनिक मिसाइल कार्यक्रम विकसित कर रहा है.

डंकन इंस-कर का कहना है कि चीन की प्राथमिकतओं में क्षेत्रीय विवाद आर्थिक तरक्की और स्थिरता के मुकाबले काफ़ी नीचे है.

लेकिन ये भी साफ़ है कि क्षेत्रीय देश भी अपनी सैन्य ताक़त बढ़ा रहे हैं.

भारत ने भी अपने सालाना रक्षा बजट में 11.6 प्रतिशत की बढ़ोतरी का एलान किया है. पिछले साल के मुकाबले ये चार प्रतिशत की बढ़ोतरी है.

संबंधित समाचार