यौन शोषण मामले में 21 पादरी निलंबित

आर्चिबिशप ऑफ़ फ़िलाडेल्फ़िया इमेज कॉपीरइट ap
Image caption आर्चिबिशप ऑफ़ फ़िलाडेल्फ़िया ने पीड़ितों के प्रति अफ़सोस जताया है

अमरीका में बच्चों के यौन शोषण मामले में संदिग्ध 21 रोमन कैथलिक पादरियों को निलंबित कर दिया गया है.

फ़िलाडेल्फ़िया में लंबे समय से चल रहे इस मामले में शायद पहली बार इतनी बड़ी संख्या में पादरियों को निलंबित किया गया है.

पिछले महीने ही ज्यूरी की रिपोर्ट आई थी जिसमें कहा गया था कि कम से कम 37 पादरी ऐसे हैं जो आरोप लगने के बावजूद काम कर रहे हैं.

रिपोर्ट आने के बाद चर्च ने इनमें से तीन के निलंबन का आदेश दे दिया था और कहा था कि पांच और पादरियों को निलंबित किया जा सकता था लेकिन अब वे सक्रिय नहीं है.

बाकी आठ के बारे में कहा गया था कि उनके ख़िलाफ़ और जाँच करने की ज़रूरत नहीं है.

शोषण का आरोप

फ़िलाडेल्फ़िया के आर्चबिशप कार्डिनल जस्टिन रिगाली ने कहा था कि ये रिपोर्ट चिंताजनक है और इस पर कोई ठोस निर्णय लेना होगा.

उनका कहना था कि यौन शोषण का शिकार हुए लोगों के लिए उन्हें बेहद अफ़सोस है.

र्चबिशप कार्डिनल जस्टिन रिगाली ने बताया है कि जब तक इन पादरियों के मामलों पर पुनर्विचार चल रहा है तब तक इन्हें छुट्टी पर भेज दिया गया है.

आठ साल पहले अमरीकी बिशपों ने बच्चों की सुरक्षा के लिए बने क़ानून से संबंधित नीतियों में सुधार किया था.

साथ ही कहा गया कहा था कि युवाओं से संदिग्ध लोगों को दूर रखने के लिए क़दम उठाए जाएँगे.यौन शोषण का ताज़ा मामला उस सुधार के आठ साल बाद सामने आया है.

दरअसल अलग-अलग देशों में पादरियों के ख़िलाफ़ कथित तौर पर शोषण के कई मामले सामने आ रहे हैं.

पिछले कुछ महीनों में ऐसे कई आरोप लगे हैं कि यूरोप, उत्तर अमरीका और दक्षिण अमरीका में चर्च अधिकारियों ने ऐसे पादरियों के ख़िलाफ़ पर्याप्त क़दम नहीं उठाए जिन पर बच्चों का यौन शोषण करने का आरोप था.

संबंधित समाचार