गद्दाफ़ी निशाने पर नहीं हैं: पश्चिमी सेना

  • 21 मार्च 2011
हवाई हमले इमेज कॉपीरइट PA
Image caption पश्चिमी देशों के हवाई हमलों ने लीबिया की सेना की हालत ख़राब की है

अमरीका, ब्रिटेन और फ्रांस ने कहा है कि लीबिया में किए जा रहे हवाई हमलों के ज़रिए कर्नल गद्दाफ़ी को निशाना बनाने का कोई इरादा नहीं है.

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी ब्रिटेन और फ्रांस के नेताओं की तर्ज पर कहा है कि गठबंधन सेनाओं का मकसद लीबिया में सत्ता पलट करना नहीं है.

इससे पहले ब्रिटेन के रक्षा विभाग के प्रमुख सर डेविड रिचर्ड्स ने कहा था कि संयुक्त राष्ट्र के जिस प्रस्ताव के तहत लीबिया में हवाई हमलों की अनुमति मिली है उसमें लीबिया के नेता को निशाना बनाने की अनुमति नहीं है.

रिचर्ड्स के अनुसार संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव में लीबिया के नागरिकों को बचाने के लिए सैन्य कार्रवाई की बात कही गई है.

फ्रांस के प्रवक्ता ने ज़ोर देकर कहा है कि अगर कर्नल गद्दाफ़ी कहां हैं ये पता चल जाए तो भी उनको निशाना नहीं बनाया जाएगा.

प्रवक्ता ने बताया कि देर रात हुए हवाई हमले में त्रिपोली में गद्दाफ़ी के एक परिसर को निशाना ज़रुर बनाया गया था.

इस हमले में चार मालों की इमारत को काफ़ी नुकसान पहुंचा था.

ब्रिटेन ने कहा है कि उन्होंने रात में हवाई हमलों के दौरान एक बार हमला सिर्फ़ इसलिए रोका क्योंकि जिस जगह को निशाना बनाया जा रहा था वहां आम लोग मौजूद थे.

अरब लीग

अरब लीग के महासचिव अम्र मूसा ने लीबिया सरकार के ख़िलाफ़ सैन्य कार्रवाई संबंधी संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का स्वागत किया है और कहा है कि वो इस प्रस्ताव का सम्मान करते हैं.

लीबिया पर पश्चिमी देशों के हवाई हमले शुरु होने के एक दिन बाद अम्र मूसा ने काहिरा में कहा कि ये हमले लीबिया में नो फ्लाई जोन बनाने के संयुक्त राष्ट्र के उद्देश्यों से कहीं बढ़कर है.

उधर लीबिया में कर्नल गद्दाफ़ी के विरोधी इन हवाई हमलों के बाद राहत महसूस कर रहे हैं और जश्न मना रहे हैं.

तोबरुक में मौजूद बीबीसी संवाददाता के अनुसार विद्रोहियों को लगता है कि हवाई हमलों के बाद गद्दाफ़ी की वफादार सेना में विद्रोह हो सकता है.

इससे पहले खाड़ी के अरब देशों ने ज़ोर देकर कहा था कि वो लीबिया के मामले में अंतरराष्ट्रीय सहायता के लिए प्रतिबद्ध रहेंगे.

उल्लेखनीय है कि कतर और संयुक्त अरब अमीरात ने अंतरराष्ट्रीय सहायता के लिए लड़ाकू विमान भी मुहैया कराए हैं.

संबंधित समाचार