सीरिया में प्रदर्शन, यमन-बहरीन में तनाव

  • 21 मार्च 2011
सीरिया इमेज कॉपीरइट AP
Image caption सीरिया में 50 साल से जारी आपातकाल क़ानूनों का विरोध हो रहा है

मध्य पूर्व के कई देशों में पिछले दो महीने से रुक-रुक कर हो रहे सरकार विरोधी प्रदर्शनों ने फिर गति पकड़ी है.

जहाँ सीरिया में तीसरे दिन हज़ारों प्रदर्शनकारियों की सुरक्षा बलों के साथ झड़पें हुई हैं, वहीं यमन के राष्ट्रपति अली अब्दुल्लाह सालेह ने अपने मंत्रिमंडल को बर्ख़ास्त कर दिया है.

उधर शिया बहुसंख्यक बहरीन में सुन्नी शासकों के ख़िलाफ़ हुए प्रदर्शनों में हुई मौतों के बाद ईरान और बहरीन के बीच तनाव बढ़ गया है.

बहरीन की ओर से ईरान के राजनयिक को निकाले जाने के बाद जवाबी कार्रवाई में ईरान ने बहरीन के राजनयिक को देश से चले जाने को कहा है.

ट्यूनिशिया और मिस्र में सरकार विरोधी प्रदर्शनों और सत्ता परिवर्तन के बाद से मध्य पूर्व के कई देशों में सरकारी विरोधी प्रदर्शन भड़के हैं और वर्तमान घटनाएँ भी इसी घटनाक्रम का हिस्सा हैं.

सीरिया में तीसरे दिन भी झड़पें

सीरिया में पिछले 50 साल से आपातकाल क़ानून लागू हैं और प्रदर्शनकारी इन्हें ख़त्म करने और राजनीतिक क़ैदियों को रिहा करने की मांग कर रहे हैं.

सीरिया में लगातार तीसरे दिन हज़ारों सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों के बीच दक्षिणी शहर डेरा में झड़पें हुई हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption यमन में राष्ट्रपति अली अब्दुल्लाह सालेह पिछले 30 सात से सत्ता में बने हुए हैं

प्रदर्शनकारियों ने सत्ताधारी बाथ पार्टी के स्थानीय दफ़्तर और एक अदालत की परिसर को आग लगा दी है.

जब सुरक्षाबलों ने प्रदर्शनकारियों पर गोलियाँ चलाई तो एक व्यक्ति की मौत हो गई.

सरकार ने कहा है कि वह कुछ राजनीतिक क़ैदियों को रिहा कर रही है. इनमें वो सरकार विरोधी युवा कार्यकर्ता शामिल हैं जिनपर दीवारों पर सरकार विरोधी नारे लिखने का आरोप है. शुक्रवार को चार प्रदर्शनकारी मारे गए थे.

यमन में मंत्रिमंडल बर्ख़ास्त

उधर यमन में पिछले 30 साल से सत्ता में बने हुए राष्ट्रपति अली अब्दुल्लाह सालेह ने अपने मंत्रिमंडल को बर्खास्त कर दिया है.

दरअसल सरकार विरोधी प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति के इस्तीफ़े की मांग कर रहे हैं और हाल के दिनों में वहाँ भड़के प्रदर्शनों में सुरक्षाबलों की कार्रवाई में 52 लोग मारे गए थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption शिया बहुसंख्यक बहरीन में सुन्नी शासकों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन हुए हैं

राष्ट्रपति अली अब्दुल्लाह सालेह के कही मंत्रिमंडलीय सहयोगियों ने पहले ही इस्तीफ़ा दे दिया है.

ईरान और बहरीन में ठनी

दूसरी ओर बहरीन और ईरान के बीच पैदा हुए तनाव के कारण ईरान ने बहरीन के एक राजनयिक को देश से चले जाने को कहा है.

बहरीन की राजधानी मानामा में प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई हुई है.

शिया बहुसंख्यक देश ईरान बहरीन में शिया प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ हुई कार्रवाई के विरोध में पहले ही बहरीन से अपने राजूदत को वापस बुला चुका है.

ईरान बहरीन में सऊदी अरब और अन्य अरब देशों के सुरक्षाबलों को बुलाए जाने की निंदा कर चुका है. पिछले हफ़्ते बहरीन ने ईरान में अपने राजदूत को वापस बुला लिया था और ईरान पर आरोप लगाया था कि वह उसके अंदरूनी मामलों में दख़ल दे रहा है.

संबंधित समाचार