पूर्व राष्ट्रपति को जेल की सज़ा

कात्साव इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption कात्साव को बलात्कार के आरोप में जेल की सज़ा सुनाई गई है

इसराइल की एक अदालत ने देश के पूर्व राष्ट्रपति मोसे कात्साव को बलात्कार और यौन प्रताड़ना के आरोप में सात साल क़ैद की सज़ा सुनाई है.

कात्साव के ख़िलाफ़ दिसंबर महीने में इन आरोपों का दोषी पाया गया था.

कात्साव पर आरोप थे कि उन्होंने नब्बे के दशक में उस समय अपने स्टाफ की एक महिला के साथ दो बार बलात्कार किया जब वो कैबिनेट मंत्री थे.

नब्बे के दशक में कात्साव इसराइली कैबिनेट में पर्यटन मंत्री थे.

कात्साव पर यह भी आरोप था कि जब वो इसराइल के राष्ट्रपति थे तो उन्होंने दो महिलाओं का यौन उत्पीड़न किया और उन्हें प्रताड़ित भी किया.

कात्साव ने 2007 में राष्ट्रपति पद छोड़ दिया था और इन आरोपों का खंडन भी किया था लेकिन कोर्ट में मामला चला और ये आरोप सिद्ध हो गए.

माना जाता है कि पूर्व राष्ट्रपति इसके ख़िलाफ़ अपील करेंगे.

यह पहली बार है जब इसराइल के किसी पूर्व राष्ट्रपति को जेल की सज़ा सुनाई गई है.

तेल अवीव की एक ज़िला अदालत में कात्साव को सज़ा सुनाते हुए न्यायाधीश ने कहा कि कोई भी व्यक्ति क़ानून से ऊपर नहीं है.

फ़ैसला सुनने के बाद पूर्व राष्ट्रपति ने ज़ोर से चिल्ला कर कहा, ‘‘ ये झूठ है. ये लड़कियां जानती हैं कि वो झूठ बोल रही हैं.’’

उल्लेखनीय है कि जब ये मामले कोर्ट में शुरु हुए थे तो कात्साव यौन दुर्व्यवहार के मामले में ग़लती मानने को तैयार हुए थे ताकि यौन शोषण और बलात्कार के मामले न चले लेकिन उन्होंने बाद में अपनी अर्ज़ी वापस ले ली.

कात्साव के पास अपील के लिए 45 दिनों का समय है.

संबंधित समाचार