अजदाबिया पर फिर विद्रोहियों का क़ब्ज़ा

अजदाबिया इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption गठबंधन सेना के हमलों के बीच विद्रोहियों ने अजदाबिया पर फिर क़ब्ज़ा कर लिया

लीबिया में विद्रोहियों ने पूर्वी शहर अजदाबिया पर फिर से क़ब्ज़ा कर लिया है.

पिछले कुछ दिनों से लीबिया के नेता कर्नल मुअम्मर ग़द्दाफ़ी के वफ़ादार सैनिको के ख़िलाफ़ पश्चिमी देशों की गठबंधन सेना के लगातार हमलों के बाद विद्रोहियों को ये सफलता हाथ लगी है.

अजदाबिया में चारों ओर उत्सव का माहौल है.

कर्नल गद्दाफ़ी समर्थकों के हाथों से शहर को मुक्त कराने की ख़ुशी का इज़हार लोग हवा में गोलियाँ दाग कर कर रहे हैं.

अजदाबिया लीबिया के भीतर सामरिक रूप से बहुत ही महत्वपूर्ण शहर है.

एक लाख लोगों की आबादी वाले इस शहर से हो कर ही विद्रोही अंतत: गद्दाफ़ी के नियंत्रण वाले पश्चिम इलाक़ों की तरफ़ बढ़ सकेंगे.

विद्रोहियों का अगला निशाना ब्रेगा शहर हो सकता है.

गद्दाफ़ी विरोधी विद्रोही खुल कर स्वीकार करते हैं कि पश्चिमी देशों के हवाई हमलों के कारण ही उन्हें ये सफलता मिली है.

ओबामा की चेतावनी

अमरीकी राष्ट्रपति बराका ओबामा ने भी स्वीकार किया है कि लीबिया के ख़िलाफ़ गठजोड़ बलों का सैनिक अभियान सफलता के साथ आगे बढ़ रहा है.

अपने साप्ताहिक रेडियो संबोधन में ओबामा ने कहा कि अमरीका, ब्रिटेन और फ़्रांस के विमानों की कार्रवाई और मिसाइल हमलों के कारण गद्दाफ़ी की सेना की कमर टूट गई है और वह विरोधियों के क़ब्ज़े वाले इलाक़ों की तरफ़ बढ़ने की स्थिति में नहीं रह गई है.

“हमें अपने मिशन में सफलता मिल रही है. हमने लीबिया की वायु सुरक्षा प्रणाली नष्ट कर दी है. गद्दाफ़ी की सेना आगे नहीं बढ़ पा रही है. बेनग़ाज़ी जैसी जगह में जहाँ कि क़रीब सात लाख लोग रहते हैं, गद्दाफ़ी ने कोई दया भाव नहीं दिखाने की धमकी दी थी, लेकिन उनकी सेना को पीछे धकेल दिया गया है. इसलिए ये नहीं भूलें कि हमने त्वरित कार्रवाई कर एक बड़ी मानवीय त्रासदी को टाल दिया है. और इस तरह बड़ी संख्या में निर्दोष आम लोगों की ज़िंदगी बच गई है.”

ओबामा ने लीबिया में जारी अभियान में भागीदारी के लिए क़तर और संयुक्त अरब अमीरात का आभार व्यक्त किया.

लेकिन बराक ओबामा ने साफ़ शब्दों में कहा है कि अमरीकी सेना लीबिया में किसी ज़मीनी लड़ाई में भाग नहीं लेगी.

“मैंने शुरू से ही स्पष्ट कर रखा है कि अमरीकी बलों की भूमिका सीमित होगी. हम लीबिया में थल सैनिक नहीं भेज रहे. हमारी सेना की लीबिया अभियान की शुरुआत में महत्वपूर्ण भूमिका रही है, लेकिन अब ये एक व्यापक अंतरराष्ट्रीय प्रयास है.”

ओबामा ने अपने साप्ताहिक रेडियो संदेश में इस बात को भी रेखांकित किया कि दुनिया हर संकट में अमरीकी हस्तक्षेप की उम्मीद नहीं करें.

उन्होंने कहा कि दुनिया में शांति और सुरक्षा सुनिश्चित करने की ज़िम्मेदारी उठाने के लिए अन्य राष्ट्रों को भी सामने आना चाहिए.

संबंधित समाचार