आइवरी कोस्ट में 800 की मौत

  • 2 अप्रैल 2011
आइवरी कोस्ट इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption आबिदजान में भीषण लड़ाई जारी है.

अंतरराष्ट्रीय संस्था रेड-क्रॉस के मुताबिक आइवरी कोस्ट में जारी संघर्ष में एक हफ्ते के भीतर मरने वालों की संख्या 800 तक पहुंच गई है.

'इंटरनेशनल कमेटी फॉर रेड क्रॉस' (आईसीआरसी) के मुताबिक इन लोगों की मौत आइवरी कोस्ट के ड्वेक्वे शहर में जारी सांप्रदायिक संघर्ष में हुई है.

आइवरी कोस्ट में आईसीआरसी के प्रमुख का कहना है कि इतनी बड़ी संख्या में लोगों को जिस नृशंसता के साथ मारा गया है वह घातक है.

ग़ौरतलब है कि आइवरी कोस्ट के अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त राष्ट्रपति अलासान वाएटरा का समर्थन करने वाली सेना देश के प्रमुख शहर अबिदजान पर हमले कर रही हैं.

अबिदजान पर लॉरांग बैग्बो का कब्ज़ा है जो चुनाव हारने के बाद भी सत्ता छोड़ने के लिए तैयार नहीं हैं.

सत्ता छोड़ने को तैयार नहीं

आईसीआरसी दल के सदस्यों का कहना है कि उन्होंने गुरुवार को ड्वेक्वे शहर का दौरा किया और वहां मंगलवार को हुई हिंसा के बारे में जानकारी हासिल की.

आईसीआरसी दल की प्रवक्ता डोरोथिया क्रिमिक्सास ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया, ''इसमें कोई शक नहीं कि इस शहर में बड़े स्तर पर हिंसा हुई है. हमने खुद 28 शवों को मुर्दाघर तक पहुंचाया है. सारे सबूत यह दिखाते हैं कि यह युद्ध जनित सांप्रदायक हिंसा है.''

आईसीआरसी ने इस मामले में एक वक्तव्य जारी कर रहा है कि संगठन भीषण स्तर पर हुई इस हिंसा की निंदा करता है और चाहता है कि दोनों पक्ष हर कीमत पर आम लोगों की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी लें.

आइवरी कोस्ट में लंबे समय से राजनीतिक अनिश्चतता और तनाव का माहौल बना हुआ है और गृह युद्ध भड़कने की आशंका व्यक्त की जा रही है.

दिसंबर 2010 में भी 14 हज़ार से ज़्यादा लोगों ने आइवरी कोस्ट से भागकर पड़ोसी देश लाइबेरिया में शरण ली थी.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार