नैटो की ग़लती से बाग़ियों को नुक़सान

विद्रोही सेना इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption नैटो ने ग़लती से विद्रोहियों को ही निशाना बना लिया

पूर्वोत्तर लीबिया के विद्रोहियों ने कहा है कि नैटो सेना ने ग़लती से उनके सैनिकों पर ही हवाई हमला कर दिया है. हालाँकि अभी ये पता नहीं चला है कि इस हमले में कितने लोग मारे गए हैं.

लेकिन अजदाबिया के डॉक्टरों ने बीबीसी को बताया है कि 13 विद्रोही सैनिक मारे गए हैं.

बीबीसी संवाददाताओं का कहना है कि नैटो के इस हमले के बाद अजदाबिया के बाहरी इलाक़े में अफ़रा-तफ़री का माहौल है और विद्रोही सैनिक पीछे हट रहे हैं.

हाल के दिनों में यह तीसरी ऐसी घटना है, जिसमें लीबियाई नागरिकों की रक्षा के लिए तैनात अंतरराष्ट्रीय सेनाएँ शामिल हैं.

अफ़वाहें

एक विद्रोही कमांडर ने बीबीसी को बताया है कि कम से कम चार मिसाइलें विद्रोही सैनिकों के खेमें में आकर गिरीं. उन्होंने बताया कि इस कारण कई लोग मारे गए हैं और कई घायल हुए.

ताज़ा ख़बरों के मुताबिक़ अजदाबिया में इस तरह की अफ़वाहें फैल रही हैं कि कर्नल गद्दाफ़ी की सेना शहर पर हमला करने वाली है और इसके बाद अजदाबिया से हज़ारों लोग भाग रहे हैं.

नैटो सेना के हमले के बाद एम्बुलेंस को मौक़े पर आते देखा गया है. माना जा रहा है कि ग़लती से हुई नैटो सेना की इस कार्रवाई के कारण विद्रोहियों में काफ़ी नाराज़गी है.

बुधवार को सरकारी सेना की ओर से हुई बमबारी के कारण विद्रोही पहले से ही परेशान थे. उन्होंने नैटो सेना से अपील की थी कि वे सरकारी सैनिकों पर कार्रवाई करें, लेकिन ग़लती से विद्रोहियों पर ही कार्रवाई हो गई.

संबंधित समाचार