हवाई हमले नही रुकेंगे: अमरीका

हमले के बाद इमेज कॉपीरइट BBC World Service

अमरीका की सरकार ने लीबिया के नेता कर्नल मुअम्मार गद्दाफ़ी की हवाई हमले रोकने की अपील को ख़ारिज कर दिया है.

कर्नल गद्दाफ़ी ने अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को पत्र लिखा था जिसमें उन्होंने नैटो सेना की ओर से जारी हवाई हमले रोकने को कहा था.

अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि लीबियाई नेता को तुरंत संघर्ष विराम की घोषणा करनी चाहिए, शहरों से अपनी सेनाओं को वापस बुलाना चाहिए और फिर निर्वसन में चले जाना चाहिए.

एक पूर्व अमरीकी सांसद कर्ट वेल्डन संघर्ष विराम की बातचीत के लिए की संभावनाऐं तलाशने लीबिया का अनौपचारिक दौरा कर रहे हैं.

'अंतरराष्ट्रीय क़ानूनों का उल्लंघन'

इस बीच, कर्नल गद्दाफ़ी की सरकार ने कहा है कि ब्रिटेन के लड़ाकू जहाज़ों ने लीबिया के प्रमुख तेल इलाकों को निशाना बनाया है जिसमें एक पाइपलाइन नष्ट गई है.

लीबिया के उप विदेश मंत्री ख़ालिद कैम के मुताबिक पूर्वी लीबिया के सारिर तेल क्षेत्र में इन हमलों में तीन सुरक्षा कर्मी मारे गये हैं. उनका कहना है कि ये हमले अंतरराष्ट्रीय क़ानूनों का उल्लंघन है.

इससे पहले, गद्दाफ़ी विरोधी गुट के प्रवक्ता ने कहा था कि गद्दाफ़ी का समर्थन कर रही सेना के लगातार तीन दिनों के हमलों में सारिर समेत विद्रोहियों के कब्जे़ वाले तेल क्षेत्र में उत्पादन ठप हो गया है.

दो महीने पहले कर्नल गद्दाफ़ी के ख़िलाफ़ शुरु हुए जनविद्रोह होने के बाद से ही लीबिया में सत्ता संघर्ष जारी है. और नैटो की सेना लीबिया में सरकारी सेना सैन्य ठिकानों को निशाना बनाते हुए हवाई हमले कर रही है.

संबंधित समाचार