पुर्तगाल के राहत पैकेज पर फ़ैसला

  • 7 अप्रैल 2011
हौसे सौक्रेतेज़ इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption पुर्तगाल की जर्जर अर्थव्वस्था के इस अंजाम का अंदाज़ा पहले से था कार्यकारी प्रधानमंत्री हौसे सौक्रेतेज़ को.

यूरोपीय संघ के वित्त मंत्री आज बुडापेस्ट में पुर्तगाल को आर्थिक राहत पैकेज देने पर विचार करने वाले हैं.

पुर्तगाल के कार्यकारी प्रधानमंत्री हौसे सौक्रेतेज़ ने बुधवार को यूरोपीय संघ से अपील की थी कि बेक़ाबू होती जा रही अर्थव्यवस्था को संकट से उबारने के लिए पुर्तगाल को आर्थिक राहत पैकेज दिया जाए.

ग्रीस और आयरलैंड के बाद पुर्तगाल यूरोज़ोन का ऐसा तीसरा ऐसा देश है जिसने यूरोपीय संघ से आर्थिक मदद मांगी है.

पुर्तगाल में क्रेडिट रेटिंग एजेसियों ने तभी आर्थिक संकट की भविष्यवाणी कर दी थी, जब अल्पसंख्यक समाजवादी सरकार की कड़ी आर्थिक सुधार योजना को संसद में मंज़ूरी नहीं मिल पाई थी.

प्रधानमंत्री हौसे सौक्रेटीज़ की सरकार को इसी नाकामी के बाद इस्तीफ़ा देना पडा था.

पुर्तगाल के कार्यकारी प्रधानमंत्री सौक्रेतेज़ ने बुधवार को यूरोपीय संघ से अपील की थी कि बेक़ाबू होती जा रही अर्थव्यवस्था को संकट से उबारने के लिए पुर्तगाल को आर्थिक राहत पैकेज दिया जाए.

उनका कहना था कि वे शुरू से ये जानते थे कि आर्थिक राहत पैकेज की सख़्त ज़रूरत है लेकिन अब ये स्वीकार करने का वक़्त आ गया है.

सौक्रेतेज़ ने अभी ये नहीं बताया है कि आर्थिक पैकेज में वे कितनी रक़म चाहते हैं.

बीबीसी के व्यावसायिक मामलों के संपादक रौबर्ट पैस्टन के मुताबिक़ पुर्तगाल को इस संकट से उबारने के लिए कम से कम 110 अरब डॉलर की सहायता देनी पड़ेगी, जिसमें ब्रिटन को भी सहयोग देना होगा.

पुर्तगाल का संकट

पुर्तगाल के आर्थिक संकट का स्वरूप ग्रीस और आयरलैंड से कुछ अलग तरह का है.

आर्थिक विकास की नीची दर और अपेक्षाकृत ज़्यादा वेतन दिए जाने का नतीजा ये हुआ कि सरकार सार्वजनिक ख़र्च के लिए करों के ज़रिए पर्याप्त रकम नहीं जुटा पाई और

जब बैंकिंग उद्योग संकट में घिरा तो पुर्तगाल को भी अन्य देशों की तरह बुरे कर्ज़ के संकट से जूझना पडा.

इसी बीच आर्थिक माहौल सुधारने की सारी कोशिशें नाकम हो जाने के बाद पुर्तगाल को ये स्वीकार करना पड़ा कि शेयरबाज़ारों से वह अपने सार्वजनिक ख़र्च के लिए रक़म नहीं उगाह पाएगा.

ब्रिटेन की भूमिका

यूरोपीय संघ की ओर से पुर्तगाल को दो तरह के कर्ज़ दिए जा सकते हैं, जिनमें किसी एक में सहयोग देने की ब्रिटेन की भी ज़िम्मेदारी बनती है.

ब्रिटन या तो सीधे इस राहत पैकेज में अपना सहयोग देगा या फिर अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की ओर से पुर्तगाल को दी जाने वाली रक़म के लगभग 4.5 प्रतिशत क़र्ज़ की ज़िम्मेदारी ले सकता है.

ब्रिटेन में कूटनीतिज्ञों का ये मानना है कि पुर्तगाल को दिए जाने वाले आर्थिक पैकेज में ब्रिटेन को लगभग चार अरब पाउंड देने पड़ सकते हैं.

संबंधित समाचार