क्या अमरीका में काम ठप होगा?

बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption बराक ओबामा बजट प्रस्ताव पारित करवाने की कोशिश कर रहे हैं.

अमरीका में डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन पार्टी के नेता अब भी बजट कटौती पर समझौता करने की कोशिश में लगे हैं क्योंकि ऐसा न होने पर सरकार का कामकाज रुक जाएगा.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सांसदो से कहा है कि वो परिपक्व व्यवहार करें और बजट पर सहमति बनाएँ. पेनसिलवेनिया में उन्होंने कहा कि कुछ लोग सीधी बहस की बजाए इस मामले पर राजनीति कर रहे हैं.

अगर कांग्रेस बजट को पारित नहीं करती तो शुक्रवार रात तक सरकार का काम रुक जाएगा.

टकराव

रिपब्लिकन और डेमोक्रेट सांसद खर्चों की कटौती को लेकर आमने सामने हैं.

इस बीच व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में राष्ट्रपति क्लिंटन, रिपब्लिकन पार्टी के स्पीकर, जोह्न बोहनर और सिनेट में डेमोक्रेटिक बहुमत के नेता हैरी रीड मुलाक़ात करने वाले हैं.

रिपब्लिकन पार्टी के सदस्य, सरकार विरोधी टी पार्टी के साथ मिलकर बजट में बड़ी कटौती की मांग कर रहे हैं पर डेमोक्रेट्स इसके लिए तैयार नहीं है. अमरीका का बजट घाटा 1.4 ट्रिलियन डॉलर है.

बोहनर का कहना था, “हमारा ध्येय साफ है. हम अधिक से अधिक खर्च में कटौती चाहते हैं क्योंकि खर्च कटौती के साथ ही हमारा मानना है कि ज़्यादा रोज़गार पैदा होगा.”

इस बीच डेमोक्रेटिक पार्टी ने रिपब्लिकन पार्टी पर आरोप लगाया है कि वो सामाजिक नीति के अपने एजेंडे को बिल से जोड़कर देख रही है. उनका कहना है कि जितनी कटौती रिपब्लिकन पार्टी मांग कर रही है वो अमरीकी अर्थव्यवस्था को उभरने नहीं देंगे.

शुक्रवार मध्यरात्रि तक अगर बजट पारित नहीं होता है तो सभी ग़ैर ज़रुरी समझी जाने वाली सरकारी सेवाएं बंद कर दी जाएंगी और हज़ारों सरकारी कर्मचारी घर बैठने पर मजबूर हो जाएंगे.

ओबामा का कहना है कि सरकार एक- एक हफ्ते के खर्च की राशि जुटा जुटा कर नहीं चल सकती.

संबंधित समाचार