क्यूबा में पद पर रहने की सीमा तय

राउल कास्त्रो
Image caption राउल कास्त्रो राष्ट्रपति बनने से पहले सेना की कमान संभाला करते थे

क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो ने घोषणा की है कि अब से राष्ट्रपति सहित किसी भी राजनीतिक पद पर कोई भी पाँच साल के दो कार्यकाल से अधिक नहीं रह सकेगा.

राष्ट्रपति राउल कास्त्रो पिछले 14 सालों में पहली बार हो रही क्यूबा की कम्युनिस्ट पार्टी की पहली कांग्रेस को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि पार्टी नेतृत्व में नवीनीकरण की ज़रुरत है और इसके लिए गंभीर आत्मविश्लेषण की ज़रुरत है.

क्यूबा के कम्युनिस्ट पार्टी में किसी पद पर रहने के लिए सीमा का निर्धारण अपने आपमें एक नई बात है.

इससे पहले राउल कास्त्रो के भाई फ़िदेल कास्त्रो ने बीमारी की वजह से पद छोड़ने के पूर्व क्यूबा पर लगभग आधी सदी तक शासन किया.

नई व्यवस्था

अब 79 वर्ष के हो गए राउल कास्त्रो ने वर्ष 2008 में पद संभाला था.

राष्ट्रपति राउल ने अपने भाषण में देश की अर्थव्यवस्था में सरकार की भूमिका कम करने पर ज़ोर दिया और कहा कि अब सरकार निजी उद्यमों को बढ़ावा देना चाहती है.

उनका कहना था कि क्यूबा के लिए नया आर्थिक मॉडल तैयार करने में कम से कम पाँच साल का समय लग जाएगा.

उन्होंने कहा है कि स्वास्थ्य और शिक्षा के लिए सरकार सहायता देती रहेगी लेकिन आवश्यक वस्तुओं पर से अनुदान ख़त्म होगा और समाज कल्याण के क्षेत्र में किए जाने वाले खर्च को तर्कसंगत बनाया जाएगा.

वैसे इन परिवर्तनों की घोषणा राउल कास्त्रो ने पिछले साल अक्तूबर में ही कर दी थी.

उनका कहना है कि तब से अब तक लगभग दो लाख लोगों ने स्वरोज़गार के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवा लिया है.

हालांकि उन्होंने कहा है कि क्यूबा के समाजवादी चरित्र को कोई नहीं बदल सकता.

चार दिन चलने वाले इस कांग्रेस में एक हज़ार प्रतिनिधि कोई 300 सुधार कार्यक्रमों को मंज़ूरी देंगे.

समारोह

कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस शुरु होने से पहले क्यूबा में हाल के बरसों में सबसे बड़े सैन्य परेडों में से एक हुआ.

इस समारोह की वजह बे-ऑफ़-पिग्स में सीआईए समर्थित हमले के विफल होने की पचासवीं वर्षगाँठ मनाना है.

इसे क्यूबा के लोग अमरीका पर जीत की तरह देखते हैं.

इस अवसर पर सामाजवाद की जीत के 50 वर्ष भी मनाए जा रहे हैं.

परेड के अलावा हज़ारों नागरिकों ने झँडे फ़हराते दिखे और वे नारे लगा रहे थे.

हालांकि इस पूरे आयोजन में फ़िदेल कास्त्रो कहीं दिखाई नहीं पड़े जो अब 84 वर्ष के हो चुके हैं.

हवाना में मौजूद बीबीसी संवाददाता का कहना है कि संभव है कि ये क्यूबा की क्रांति में भाग ले चुके लोगों की पीढ़ी के लोगों के साथ हो रही आख़िरी कांग्रेस हो.

संबंधित समाचार