ऐपल बनाम सैमसंग

एपल कंपनी का आई-पैड इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption प्रतिद्वंदी होने के बावजूद एपल और सैमसंग के बीच कारोबार चलता है.

कंप्यूटर कंपनी ऐपल ने प्रॉडक्ट की नकल करने के आरोप में अपनी सबसे बड़े प्रतिद्वंदी सैमसंग के खिलाफ क़ानूनी केस दायर किया है.

ऐपल का कहना है कि साउथ कोरियाई कंपनी सैमसंग ने अपने गैलेक्सी मोबाइल फोन में आई-फोन और आई-पैड के डिज़ाईन की नकल की है.

हालांकि सैमसंग ने इन आरोपों का खंडन किया है.

ऐपल का ये दावा सैमसंग के गैलेक्सी फ़ोन के डिज़ाइन को लेकर है.

उसका कहना है कि गैलेक्सी फोन के स्क्रीन आईकन उसके आई-फोन से मिलते-जुलते है.

सैमसंग के ख़िलाफ़ ये केस गत शुक्रवार को दायर किया था.

ऐपल के प्रवक्ता क्रस्टीन ह्यूगैट ने एक वक्तव्य में कहा, “ये सरासर नकल है और बिलकुल ग़लत है. सैमसंग ने ऐपल के पेटेंट और ट्रेडमार्क का उल्लंघन किया है.”

दूसरी ओर सैमसंग का कहना है कि उसने अपना मोबाइल प्रॉडक्ट बनाने के लिए पर्याप्त शोध किया था.

कंपनी ने कहा है कि वो अपनी बौद्धिक संपदा का बचाव करने के लिए ऐपल के दावे के ख़िलाफ़ कोर्ट में लड़ेगी.

सैमसंग का गैलेक्सी मोबाइल प्रॉडक्ट गूगल के एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग करता है जिसकी सीधी टक्कर ऐपल के मोबाइल सॉफ्टवेयर से है.

प्रतिद्वंदी होने के बावजूद ऐपल और सैमसंग के बीच कारोबार चलता है.

सैमसंग ऐपल कंपनी को माइक्रोचिप्स और मेमोरी चिप्स की सप्लाई करता है, जिसका उपयोग ऐपल के कुछ प्रॉडक्ट में होता है.

विश्लेषकों का कहना है कि ये ऐपल द्वारा एक सांकेतिक कदम है क्योंकि उसे सैमसंग की तरक्की से असुरक्षा महसूस हो रही है.

संबंधित समाचार