पुतिन का रूसी आबादी बढ़ाने का आह्वान

इमेज कॉपीरइट putin
Image caption पुतिन ने 2012 के राष्ट्रपति चुनाव में भाग लेने के संकेत दिए हैं

रूस के प्रधानमंत्री पुतिन ने देश की घटती जनसंख्या पर चिंता व्यक्त करते हुए रूसी आबादी बढ़ाने के उपायों की घोषणा की है.

इसके तहत जन्म-दर और जीवन प्रत्याशा बढ़ाने के उपायों पर सरकार 15 खरब रूबल से ज़्यादा ख़र्च करेगी.

रूसी संसद में अर्थव्यवस्था पर अपने महत्वपूर्ण भाषण में पुतिन ने कहा कि 1990 के दशक के मध्य से रूस की जनसंख्या में 6 प्रतिशत की गिरावट आई है.

रूसी प्रधानमंत्री ने जन्म-दर और जीवन प्रत्याशा बढ़ाने के उपायों को 'जनसंख्या परियोजना' का नाम दिया है.

उन्होंने कहा कि रूसी लोगों की जीवन प्रत्याशा को बढ़ा कर 71 वर्ष तक पहुँचाने की कोशिश की जाएगी.

इसी तरह जन्म-दर में 2006 के मुक़ाबले 25-30 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हासिल करने की कोशिश की जाएगी.

फिर से राष्ट्रपति बनने की चाहत

रूसी प्रधानमंत्री ने देश की अर्थव्यवस्था के इस तरह विस्तार करने की बात की, कि तेल और खनन क्षेत्र पर उसकी निर्भरता कम हो सके.

व्लादिमीर पुतिन ने मार्च 2012 के राष्ट्रपति चुनाव में खड़े होने के भी संकेत दिए हैं. वैसे अभी ये स्पष्ट नहीं है कि मौजूदा राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव चुनाव में भाग लेंगे या नहीं.

पुतिन भले ही प्रधानमंत्री हों लेकिन रूस में सत्ता केंद्र में उन्हीं को देखा जाता है.

वे मेदवेदेव की नरम छवि के विपरीत अपने सख़्त राजनीतिक विचारों के लिए जाने जाते हैं.

रूसी प्रधानमंत्री ने एक बार फिर कहा है कि रूस के लिए इस समय उदारीकरण से ज़्यादा ज़रूरी है राजनीतिक स्थायित्व.

संबंधित समाचार