विकिरण प्रभावित क्षेत्र में प्रवेश अवैध

विकिरण प्रभावित क्षेत्र इमेज कॉपीरइट Reuters

जापान ने विकिरण प्रभावित फ़ुकुशिमा परमाणु संयंत्र के 20 किमी के दायरे में प्रतिबंधों को और कड़ा करते हुए वर्जित क्षेत्र में प्रवेश को गै़रकानूनी करार दिया है.

ये प्रतिबंध मध्यरात्रि के बाद से लागू हो गया है. जापान के प्रधानमंत्री नातो कान ने उत्तरी जापान का दौरा करने के बाद ये धोषणा की.

सरकार की तमाम चेतावनियों के बावजूद पुलिस ने पाया कि लगभग साठ परिवार इस वर्जित इलाके में रह रहे थे.

अधिकारियों का कहना है कि उनका मकसद विकिरण की चपेट में आने से लोगों को बचाना और प्रभावित इलाके में लूट पाट की घटनाओं को रोकना है.

जापान सरकार के प्रवक्ता युकियो ईडानो ने कहा, ''हम यहां रहने वाले लोगों से लगातार अपील कर रहे थे कि वो इलाके में प्रवेश न करें क्योंकि यहां उनकी सुरक्षा को गंभीर ख़तरा है, पर तमाम चेतावनियों के बावजूद लोग इस वर्जित इलाके में रह रहे थे. इसलिए आज हमने आपदा का़नून के तहत इस इलाके को आपात क्षेत्र घोषित कर दिया है.”

सुनामी और भूकंप के कारण तबाह हुए फ़ुकुशिमा परमाणु संयंत्र को ठंडा करने वाली प्रणाली फेल होने के कारण हुए रिसाव की वजह से 20 किलोमीटर तक के क्षेत्र में रहने वाले लोगों को वहाँ से हटा दिया गया था.

संबंधित समाचार