विद्रोहियों ने सीमा चौकी पर क़ब्ज़ा किया

इमेज कॉपीरइट
Image caption मिसराता शहर में लड़ाई गुरुवार को भी जारी रही

लीबिया में सरकार विरोधी विद्रोहियों ने ट्यूनीशिया की सीमा पर बनी एक चौकी पर क़ब्ज़ा कर लिया है, जबकि मिसराता में लड़ाई जारी है.

वज़ीन चौकी पर नियंत्रण के लिए विद्रोहियों को सरकारी बलों के कड़े प्रतिरोध का सामना करना पड़ा.

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि तीन दिनों तक चली लड़ाई के बाद लीबियाई सैनिकों ने ख़ुद को सीमा पर तैनात ट्यूनीशियाई सैनिक अधिकारियों के हवाले कर दिया.

समाचार एजेंसी एएफ़पी की रिपोर्ट में इन सैनिकों की संख्या 100 के क़रीब बताई है, जबकि एक ट्यूनीशियाई समाचार एजेंसी के अनुसार कुल 13 लीबियाई सैनिकों ने ख़ुद को पड़ोसी देश की सेना के हवाले किया है.

उल्लेखनीय है कि वज़ीन चौकी लीबियाई शहर नलुत को ट्यूनीशियाई सीमा के शहर देहिबा से जोड़ने वाली मुख्य सड़क पर है.

मिसराता में लड़ाई जारी

इस बीच पश्चिमी लीबिया के सामरिक रूप से महत्वपूर्ण बंदरगाह शहर मिसराता में विद्रोहियों और सरकारी बलों के बीच गुरुवार को भी लड़ाई जारी रही.

विद्रोहियों के एक प्रवक्ता के अनुसार मोर्टार से की गई गोलाबारी में उनके तीन लड़ाकों की मौत हो गई है.

मिसराता में बुधवार को एक ऐसे ही मोर्टार हमले के दौरान दो पश्चिमी पत्रकारों की मौत हो गई थी. बुधवार को एक अन्य घटना में वहाँ एक यूक्रेनी डॉक्टर की भी मौत हुई थी.

इस बीच मिसराता के अस्पताल के सूत्रों ने बीबीसी को बताया कि बुधवार को संघर्ष की अलग-अलग घटनाओं में मिसराता में कम से कम पाँच लोग मारे गए, जबकि 95 अन्य घायल हो गए.

उधर समुद्री मार्ग से लोगों को मिसराता से बाहर निकालने का प्रयास गुरुवार को भी जारी रहा.

संबंधित समाचार