'तिब्बती बौध मठ' पर छापा

कीर्ति मठ

चीन की पुलिस ने देश के पश्चिमी प्रांत में स्थित एक तिब्बती बौध मठ पर छापा मारा है.

मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के मुताबिक़ इस छापामार कार्यवाई में दो लोगों की मौत हो गई है.

'तिब्बत के लिए अंतरराष्ट्रीय कैम्पेन' नामक संस्था का कहना है कि कीर्ति बौध मठ में चीनी अधिकारियों के बौध भिक्षुओं को हिरासत में लेने का विरोध करते हुए दो बुज़ुर्ग नागरिक मारे गए.

पिछले महीने हुए सरकार विरोधी प्रदर्शन के दौरान जब एक बौध भिक्षु ने आत्मदाह करने कि कोशिश की थी, तब से इलाक़े में तनाव बढ़ गया है.

इलाक़े में विदेशियों की आवाजाही पर भी रोक लगा दी गई है.

'पीटे गए'

अमरीका स्थित संस्था आईसीटी (तिब्बत के लिए अंतरराष्ट्रीय कैम्पेन) ने कहा है कि सुरक्षा बलों ने सिचुआन प्रांत के अबा इलाक़े में स्थित बौध मठ पर गुरूवार रात छापा मारा और 300 से अधिक बौध भिक्षुओं को हिरासत में ले लिया.

जब हिरासत में लिए गए लोगों को पुलिस ले जा रही थी उसी दौरान कीर्ति मठ के बाहर पहरा दे रहे क़रीब 60 वर्ष के दो तिब्बती बौध भिक्षुओं की मौत हो गई.

मानवाधिकार संस्था आईसीटी के मुताबिक़ एक बौध भिक्षु को ये कहते सुना गया कि 'इस छापे के बाद तमाम लोग ज़ख़्मी हुए. एक वृद्ध महिला की तीन जगह टांग टूट गई और इन सबके मुंह में कपड़ा ठूस दिया गया ताकि ये चीख़-चिल्ला ना सकें.'

बीबीसी के पास अभी इस घटना की पूरी जानकारी नहीं पहुँच सकी है.