शाही शादी के लिए सुरक्षा चाक चौबंद

प्रिंस विलियम और केट मिडल्टन
Image caption इस तस्वीर को शाही परंपराओं को चुनौती देने वाली बताया गया था

लंदन की मैट्रोपोलिटन पुलिस ने आगाह किया है कि अगर किसी ने शुक्रवार, 29 अप्रैल को होने वाली शाही शादी में कोई ख़लल डालने की कोशिश करेगा तो उसे तगड़ा जवाब दिया जाएगा.

प्रिंस विलियम और केट मिडल्टन की शाही शादी बिना किसी बाधा के संपन्न हो जाए, ये सुनिश्चित करने के लिए लगभग पाँच हज़ार पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे और इन अधिकारियों के ज़रिए ये भी सुनिश्चित करने की कोशिश की जाएगी कि ये अवसर शांतिपूर्ण तरीक़े से संपन्न होने के साथ-साथ एक ख़ुशी का मौक़ा भी साबित हो.

कमांडर क्रिस्टीन जोन्स शाही शादी के अवसर पर पुलिस तैयारियों की देखरेख करेंगी और उनका कहना है कि अभी किसी तरह का कोई ख़तरा नहीं महसूस किया गया है.

लेकिन साठ ऐसे संदिग्ध लोगों को 29 अप्रैल को लंदन में दाख़िल होने से रोक दिया गया है जिनसे कुछ समस्याएँ खड़ी होने की आशंका है.

इनमें कुछ ऐसे भी लोग हैं जिन्हें हाल ही में छात्र प्रदर्शनों के दौरान गिरफ़्तार किया गया था. उन प्रदर्शनों में कुछ हिंसा भी भड़क उठी थी और उन प्रदर्शनों को ट्रेड यूनियन कांग्रेस का भी समर्थन हासिल था.

इन प्रदर्शनों के दौरान जिन लोगों को गिरफ़्तार किया गया था उनकी ज़मानत शर्तों के मुताबिक़ 29 अप्रैल को उनके लंदन में प्रवेश पर पाबंदी लगाई गई है.

छह लोगों को तो हाल ही में इस आशंका के बीच गिरफ़्तार किया गया था कि वो शाही शादी में कुछ ख़लल डालने की कोशिश कर सकते हैं और पुलिस आगामी कुछ दिनों में कुछ और गिरफ़्तारियाँ भी करने वाली है.

इस बीच एक आम नागरिक जॉन लॉघरी ने विवाह स्थल वेस्टमिन्सटर ऐबी के सामने सोमवार शाम से सप्ताह भर चलने वाली कैम्पिंग शुरू कर दी है.

56 वर्षीय जॉन लाघरी का कहना है कि इस कैम्पिंग के ज़रिए उनका इरादा शाही शादी के समारोहों के दौरान सभी का आकर्षण केंद्र बने रहने का है.

वेस्टमिन्सटर ऐबी के सामने बनाए गए अस्थाई ढाँचे में दुनिया भर से मीडियाकर्मी पहुँचने लगे हैं जहाँ से दुनिया भर के लिए लाइव टेलीविज़न प्रसारण किया जाएगा जिसे दो अरब लोगों के देखने की संभावना है.

आँख और कान

कमांडर क्रिस्टीन जोन्स का कहना था कि ख़ुफ़िया रिपोर्टों में पता चला है कि फिलहाल तो इस अदभुत मौक़े पर ख़लल डालने की योजनाओं की कोई ख़बर नहीं है.

हालाँकि उनका कहना था, "ये समझ लेना भी ग़लत होगा कि तात्कालिक तौर पर कोई प्रदर्शन नहीं होगा इसलिए हमने उसके लिए भी आपात योजना बनाकर रखी है. लेकिन हम ये भी बिल्कुल स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि ये ख़ुशिया मनाने का दिन होगा जब भारी समारोह होंगे. पूरे ब्रिटेन के लिए ये एक अदभुत दिन होगा."

इमेज कॉपीरइट

"अगर किसी भी अपराधी ने इस माहौल में कोई ख़लल डालने की कोशिश की, कोई प्रदर्शन करने के बहाने या किसी और रूप में तो उसे इसका तगड़ा और निर्णायक जवाब दिया जाएगा, हालाँकि ये जवाब ख़लल के अनुपात में ही होगा."

स्कॉटलैंडयार्ड पुलिस मुखर इस्लामी संगठन मुस्लिम एगेंस्ट क्रूसेड्स के सदस्यों से प्रस्तावित विरोध प्रदर्शनों के मुद्दे पर बातचीत कर रही है. इस संगठन ने विवाह स्थल वेस्टमिन्सटर ऐबी में ही एक कार्यक्रम आयोजित करने की अर्ज़ी दी थी जिसे रद्द कर दिया गया है.

एक अन्य धुर राष्ट्रवादी संगठन इंग्लिश डिफेंस लीग ने भी जवाब में प्रदर्शन आयोजित करने की धमकी दी है.

मध्य पूर्व से संबंधित एक अन्य संगठन ने भी शाही शादी के समारोह में ख़लल डालने की चेतावनी दी थी. गत सप्ताहांत लंदन में एक व्यक्ति ने एक पुलिस थाने में जाकर इस तरह के प्रदर्शन करने की इजाज़त के लिए अर्ज़ी दी थी.

जिस रास्ते से शाही दंपति गुज़रेगा, वहाँ पर किसी भी प्रदर्शन पर पाबंदी लगाने की पुलिस को क़ानूनी इजाज़त है लेकिन आसपास के स्थानों पर स्थिर प्रदर्शन होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता.

पुलिस ने हज़ारों लोगों से उस दिन अपने आँख और कान बनने का आहवान किया है ताकि किसी भी अप्रिय घटना पर गहरी नज़र रखी जा सके.

सहायक पुलिस आयुक्त लायन ओवेन्स ने एक संवाददाता सम्मेलन में आम नागरिकों से अपील करते हुए कहा, "अगर आप लोग भीड़ में किसी को भी संदेहास्पद स्थिति में देखें तो तत्काल पुलिस को सूचित करें. हज़ारों पुलिसकर्मी ड्यूटी पर तैनात रहेंगे और वो शाही शादी को देखने वालों की मदद के लिए ही वहाँ होंगे."

इस शाही शादी में ब्रिटेन के राज परिवार के अलावा 50 राष्ट्राध्यक्ष भी शामिल होंगे.

संबंधित समाचार