सीरियाई शहर में सैनिक कार्रवाई तेज़

डेरा इमेज कॉपीरइट AP
Image caption डेरा शहर में विद्रोहियों पर कार्रवाई

सीरिया से आ रही ख़बरों के मुताबिक़ सरकारी सेना ने डेरा शहर में कार्रवाई तेज़ कर दी है. शहर में टैंक भेजे गए हैं और गोलीबारी की आवाज़ें सुनाई दे रही हैं.

सरकारी समाचार एजेंसी का दावा है कि कार्रवाई के दौरान बड़ी संख्या में सैनिक मारे गए हैं. सेना का कहना है कि डेरा के आम नागरिकों की मांग पर वे शहर में घुसे हैं.

सेना का तर्क है कि डेरा के आम नागरिक 'आतंकवादियों' की कार्रवाई को रोकना चाहते हैं. लेकिन सरकार विरोधी कार्यकर्ताओं का कहना है कि ये व्यापक आज़ादी की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन को पटरी से उतारने की कोशिश है.

उनका दावा है कि बड़ी संख्या में लोगों को हिरासत में लिया गया है.

सेना का कहना है कि गिरफ़्तार लोगों के ख़िलाफ़ मुक़दमा नागरिक अदालत में चलाया जाएगा क्योंकि देश से आपातकालीन क़ानून हटा दिए गए हैं. इस बीच कई यूरोपीय देशों ने सीरिया के 'दमन' पर रोक लगाने के लिए क़दम उठाने की मांग की है.

बयान

एक संयुक्त बयान में फ़्रांस और इटली ने यूरोपीय संघ और संयुक्त राष्ट्र से अपील की है कि वे सीरिया पर दबाव बनाएँ ताकि सीरिया अपनी कार्रवाई पर रोक लगाए.

ब्रिटेन का कहना है कि वो सीरिया को एक कड़ा संदेश भेजने पर काम कर रहा है, तो अमरीका का कहना है कि वह सीरिया पर पाबंदी लगाने पर विचार कर रहा है.

जिस सीरियाई शहर डेरा में सरकारी सेना कार्रवाई कर रही है, वो राष्ट्रपति बशर अल असद विरोधी अभियान का केंद्र रहा है.

लेकिन डेरा के अलावा भी सीरिया के कई शहरों में गिरफ़्तारियाँ हुई हैं और सेना की कार्रवाई हुई है. जबकि पिछले सप्ताह ही आपातकालीन क़ानून हटा लिए गए थे.

सीरिया के एक मानवाधिकार संगठन सवासिया का दावा है कि पिछले एक महीने से चल रहे सरकार विरोधी आंदोलन के दौरान सेना की गोलीबारी में 400 लोग मारे गए हैं.

संबंधित समाचार